हिंदी ब्‍लॉगरों का इस वर्ष का नया गीत - अविनाश वाचस्‍पति मुन्‍नाभाई

आप हिंदी साहित्‍यकारों की सुनो
हिंदी साहित्‍यकार सुनेंगे जरूर
हिंदी ब्‍लॉगरों की

चाहे पुकारो उन्‍हें हिंदी ब्‍लॉगर
या समूचे अंतर्जाल के चिट्ठाकार
सब सबकी सुनेंगे

पाठक, लेखक और प्रकाशक
इतना तो तय है कि होगा फायदा
नीतियों की उन्‍नति का कायदा

पी एम मोदी ने भी है फरमाया
विकास हरेक अपेक्‍िशत ने पाया
इसमें न कोई भ्रम अौर माया

चलो भूटान मिलो भूटान
वहीं मिल जुल मन करेंगे
अल्‍पाहार अौर  भोजन

अभिव्‍यक्ति अनुभूति का लिखेंगे
रोज नव नूतन इतिहास
क्रांति का बिगुल बजायेंगे

रोज लिखेंगे इबारत नयी
झण्‍डा हिंदी ब्‍लॉंगिंग का
परचम मनभावन फहराएंगे।

3 टिप्‍पणियां:

  1. सार्थक प्रस्तुति।
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल बुधवार (14-01-2015) को अधजल गगरी छलकत जाये प्राणप्रिये..; चर्चा मंच 1857 पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    उल्लास और उमंग के पर्व
    लोहड़ी और मकरसंक्रान्ति की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ...
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  2. मेरी शिक्षा अधिकतर अंग्रेजी माध्यम में हुई है इसलिए मैं भाषा विज्ञानी नहीं हूँ परन्तु हिंदी मेरी मात्र भाषा है और हिंदी पृष्ठभूमि से आया हूँ अतः हिंदी अच्छी तरह जानता हूँ। हिंदी मेरी प्रिय भाषा है और जब भी समय मिलता है हिंदी ब्लॉग पढता हूँ। हिन्दी ब्लागरों की छवि मेरे दिमाग में यह है कि ये उच्च शिक्षित व शालीन लोग हैं परन्तु इनकी व्यस्तताओं के कारण लेखन प्रभावित होता है। 90% ब्लॉगर अपने ब्लॉगों की SEO सेटिंग और ब्लॉगर शिष्टाचार के प्रति उदासीन हैं। 10% आत्म केंद्रित व 10% आत्ममुग्ध हैं। ब्लॉग की छोटी सी सेटिंग ही अनुकू प्रभाव डाल सकतीहै।

    उत्तर देंहटाएं
  3. चलो भूटान मिलो भूटान
    वहीं मिल जुल मन करेंगे
    अल्‍पाहार अौर भोजन
    रोज लिखेंगे इबारत नयी
    झण्‍डा हिंदी ब्‍लॉंगिंग का
    परचम मनभावन फहराएंगे।
    .....बहुत खूब!
    ऐसी ही हार्दिक शुभकामना करते हैं हम ..

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz