आपका प्रकाश (अब भरोसे (ट्रस्‍ट) का यही नाम रहेगा)

Aapka Prakash




#‪#AapkaPrakash
किसी मित्र ने सुझाव नहीं दिया है
मैंने स्‍वंय अपन आप बदल दिया है
प्रकाश पुस्‍तकों का है
प्रकाश विचारों का है
प्रकाश रचनात्‍मकता का है
प्रकाश समूह का है
सब अच्‍छाइयों का प्रकाश है
समझ लीजिए आकाश है
अाकाश आपका अपना है
मैं तो निमित्‍त मात्र हूं
मिट्टी का पात्र हूं
मिट्टी कच्‍ची है
पर आपका प्रकाश
ऊर्जा है, आंच है
आंच वही जो सांच की है।

2 टिप्‍पणियां:

  1. प्रकाश अपना 'प्रकाश' कब से फैलाना शुरू करेगा और प्रक्रिया क्या होगी

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz