बेटियां (ग़ज़ल)

Posted on
  • by
  • हरीश अरोड़ा
  • in
  • प्यार का मीठा एहसास हैं बेटियाँ
    घर के आँगन का विश्वास हैं बेटियाँ।
    वक्त भी थामकर जिनका आँचल चले
    ढलते जीवन की हर आस हैं बेटियाँ।
    जिनकी झोली है खाली वही जानते,
    पतझरों में भी मधुमास हैं बेटियाँ।
    रेत सी जिंदगी में दिलों को छुवे 
    मखमली नर्म-सी घास हैं बेटियाँ।
    तुम  समझो इन्हें दर्द का फ़लसफ़ा,
    कृष्ण राधा का महारास हैं बेटियाँ।
    उनकी पलकों के आँचल में खुशियाँ बहुत,
    जिनके दिल के बहुत पास हैं बेटियाँ
    गोद खेलीवो नाज़ों पली, फिर चली,
    राम-सीता का वनवास हैं बेटियाँ।
    जब विदा हो गईहर नज़र कह गई,
    जि़न्दगी भर की इक प्यास हैं बेटियाँ

    11 टिप्‍पणियां:

    1. आपने लिखा....
      हमने पढ़ा....और लोग भी पढ़ें;
      इसलिए बुधवार 25/09/2013 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in ....पर लिंक की जाएगी. आप भी देख लीजिएगा एक नज़र ....लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

      उत्तर देंहटाएं
    2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा - सोमवार - 23/09/2013 को
      जंगली बेल सी बढती है बेटियां , - हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः22 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया पधारें, सादर .... Darshan jangra





      उत्तर देंहटाएं
    3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
      आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टी का लिंक कल सोमवार (23-09-2013) को "वो बुलबुलें कहाँ वो तराने किधर गए.." (चर्चा मंचःअंक-1377) पर भी होगा!
      हिन्दी पखवाड़े की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ...!
      सादर...!
      डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

      उत्तर देंहटाएं
    4. बहुत सुंदर प्रस्तुति.. कल और आज कि साँझ है बेटियाँ..
      prathamprayaas.blogspot.in-

      उत्तर देंहटाएं
    5. बहुत सुंदर प्रस्तुति.. कल और आज कि साँझ है बेटियाँ..
      prathamprayaas.blogspot.in-

      उत्तर देंहटाएं
    6. कल 25/04/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
      धन्यवाद !

      उत्तर देंहटाएं
    7. बहुत सुंदर गज़ल बेटियों के नाम..

      उत्तर देंहटाएं
    8. माँ के लिए पूर्णता का अहसास है बेटियाँ

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz