हिन्‍दी ब्‍लॉगरों और अन्‍य परिचितों कहानीकार श्री तेजेन्‍द्र शर्मा की ई मेल आई डी हैक हो गई है : सतर्क हो जायें

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels: , ,
  •  अपने क्रेडिट कार्ड अथवा बैंक खाते के संबंध में कोई भी जानकारी न भेजें।
    मित्रों अभी अभी राजीव तनेजा ने फोन पर सूचित किया है कि नुक्‍कड़ के सहयोगी लेखक और प्रख्‍यात कहानीकार कथा यू. के. के श्री तेजेन्‍द्र शर्मा की ई मेल आई डी हैक कर ली गई है। हैकर उनके संपर्कों को गुमराह कर रहा है कि वे संकट में हैं और उनके पास  क्रेडिट कार्ड और धनराशि नहीं है और उन्‍हें मदद की जाए।
    श्री राजीव तनेजा की श्री तेजेन्‍द्र शर्मा जी से फोन पर बातचीत हो चुकी है। हैकर से उनकी लिखचीत (चैट) चल रही है, जिनके स्‍नैपशॉट आपको शीघ्र ही उपलब्‍ध करवायें जायेंगे।



    इमेज पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं
    आप सबसे अनुरोध है कि कृपया सावधान रहें। श्री तेजेन्‍द्र शर्मा के साथ एक कोई वाक्‍या नहीं हुआ है परंतु आप उस हैकर के चंगुल में न फंस जायें, इसलिए आपको आगाह किया जा रहा है। आप भी अपने संपर्क में सभी को सूचित कर दें कि तेजेन्‍द्र शर्मा के बतलाए गए किसी भी बैंक खाते इत्‍यादि में धनराशि न दें।

    इस संदेश/लिंक  को तुरंत अपने सभी संपर्कों और परिचितों को फारवर्ड करने के विनम्र अनुरोध के साथ फारवर्ड कीजिए।

    12 टिप्‍पणियां:

    1. यह पहले भी हो चुका है। दिल्‍ली के डा.विश्‍वमोहन तिवारी और यूके में रह रही सुधा ओम ढींगरा की आई डी हैक करके ऐसे ही मेल सबको भेजे गए थे। इसलिए ज्‍यादातर ब्‍लागर बंधु इससे परिचित हो गए हैं।

      उत्तर देंहटाएं
    2. सूचना देखिये इधर
      http://bambuser.com/channel/girishbillore/broadcast/1305345

      उत्तर देंहटाएं
    3. कुछ लोग यही सब करने के लिए इण्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं!
      सभी को सजग रहने की जरूरत है!

      उत्तर देंहटाएं
    4. सावधानी गयी दुर्घटना हुई, इसलिए सावधानी ही उपाय है !

      उत्तर देंहटाएं
    5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

      उत्तर देंहटाएं
    6. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

      उत्तर देंहटाएं
    7. पिछले महिने मेरी आईडी भी चीन से हैक हुई थी, मैंने तुरंत पासवर्ड बदल लिया था.

      उत्तर देंहटाएं
    8. अच्छी जानकारी देने के लिए धन्यवाद

      उत्तर देंहटाएं
    9. ऐसे धूर्त और ठगी से भरे हादसों से बचने का एकमात्र तरीका सावधानी बरतना ही है, दूसरा कोई नहीं।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz