संवाद सम्‍मान

Posted on
  • by
  • LIMTY KHARE
  • in


  • ब्लॉगिंग के मायने क्या हैं? आज के ब्लॉग जगत को देखकर शायद यही कहा जा सकता है कि मौज मस्ती। इसकी टांग खिंचाई, उसकी जय-जयकार और ढ़ेरी सारी तालियाँ। लेकिन इसके बावजूद बहुत से लोग ऐसे हैं जो इसे एक जिम्मेदारी का काम समझते हैं, किसी खास उद्देश्य के लिए इस काम में लगे हुए हैं। ऐसे ही समर्पित ब्लॉगर्स को समर्पित है यह श्रेणी- सामाजिक चेतना।

    जिन लोगों का ब्लॉग जगत से थोड़ा सा भी गम्भीर रिश्ता है, उनके लिए शास्त्री जे0 सी0 फिलिप जी का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है। वे हिन्दी के प्रबल समर्थक हैं और उसके साथ ही साथ ब्लॉग जगत को समृद्ध बनाने के लिए तन मन धन से लगे रहते हैं। और इन सारे दायित्वों के बीच उनका समर्पण भाव साफ देखा जा सकता है। चाहे सिक्कों के बारे में हो, चाहे ब्लॉगर्स के बारे में और चाहे तमाम तरह की व्याधियों के बारे में। शास्त्री जी पूरी निष्ठा के साथ प्रामाणिक जानकारी के साथ अपने ब्लॉग पर हाजिर रहते हैं। उनकी इस निष्ठा को प्रणाम करते हुए संवाद समूह 'सामाजिक चेतना' का मुख्य संवाद सम्मान उन्हें अर्पित करता है। जैसा कि आप लोग जानते ही हैं कि मुख्य सम्मान के अन्तर्गत सम्मान राशि के रूप में एक हजार रूपये की सम्मान राशि का प्राविधान किया गया है। लेकिन शास्त्री जी ने संवाद समूह के प्रयासों को देखते हुए इस राशि को सविनय लेने से मना कर दिया है, वरन आगे होने वाले आयोजनों में अपनी ओर से आर्थिक योगदान देने का वादा भी किया है। संवाद समूह उनकी इस भावना को प्रणाम करता है और उन्हें संवाद सम्मान की हार्दिक बधाई प्रेषित करता है।

    सामाजिक चेतना श्रेणी के नामित सम्मान के लिए इस बार दो लोगों का चयन किया गया है। पहना नाम है श्री लिमटी खरे और दूसरा श्री रणधीर सिंह सुमन। खरे जी और सुमन जी की सक्रियता ब्लॉग जगत में किसी से छिपी नहीं है। ये दोनों ही ब्लॉगर सामाजिक विषयों पर अपने धुंआधार लेखन के लिए जाने जाते हैं। पेशे से लिमटी जी एक स्वतंत्र पत्रकार हैं और अपने ब्लॉग 'रोजनामचा' में दुनिया भर की खबरे लिया और दिया करते हैं। लेकिन इसके साथ ही साथ वे 'नुक्कड़', 'आमजन की खबरें' और 'पहाड़ी की धूम' आदि ब्लॉगों पर भी अपना


    Add caption
    सक्रिय योगदान करते रहते हैं। जबकि सुमन जी पेशे से एडवोकेट हैं और कम्युनिस्ट विचारधारा से जुड़ाव रखते हैं। वे अपने ब्लॉग 'लोक संघर्ष' और 'लोक वेब मीडिया' के अतिरिक्त 'कबिरा खडा बजार में', 'लखनउ ब्लॉगर्स असोसिएशन', 'हिन्दुस्तान का दर्द', 'उल्टा तीर' आदि लगभग एक दर्जन ब्लॉगों पर अपना सक्रिय योगदान करते रहते हैं। इसके अतिरिक्त वे 'लोक संघर्ष' नाम एक त्रैमासिक पत्रिका का भी प्रकाशन करते हैं। इन दोनों जुझारू ब्लॉगर्स के सक्रिय योगदान को देखते हुए संवाद समूह इन्हें 'सामाजिक चेतना-नामित' सम्मान से विभूषित करता है और इनके यशस्वी जीवन के लिए शुभकामनाएँ प्रेषित करता है।

    -------------
    नोट- सभी श्रेणियों में दिये जाने वाले मुख्य सम्मान के रूप में प्रशस्ति पत्र, रू0 1001.00 की सम्मान राशि और ई-प्रमाण पत्र दिया जाएगा जबकि नामित श्रेणी के सम्मान हेतु ई-प्रमाण पत्र का प्राविधान है। 'संवाद सम्मान' सम्बंधी प्रक्रिया एवं अन्य सूचना के लिए कृपया यहाँ चटका लगाएंअन्य श्रेणियों के सम्मान की जानकारी के लिए यहाँ पर चटका लगाएं।

    16 comments:

    बी एस पाबला said...
    nice
    Suman said...
    nice
    जी.के. अवधिया said...
    विजेताओं को बधाई!
    ali said...
    बधाई !
    दिलीप said...
    badhai...http://dilkikalam-dileep.blogspot.com/
    दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...
    सम्मानित त्रयी को बधाई! चयन उपयुक्त रहा।
    अविनाश वाचस्पति said...
    माननीय शास्‍त्री जी, लिमटी जी और सुमन जी। बधाई।
    Kunnu. said...
    Badhayi
    सुलभ § सतरंगी said...
    बधाई !!!
    'अदा' said...
    माननीय शास्‍त्री जी, लिमटी जी और सुमन जी। बधाई....!
    Ram Krishna Gautam said...
    बधाई! http://gautamdotcom.blogspot.com "RAM"
    Anonymous said...
    हद है।अपनी एक पोस्ट को दस दस जगह डाल देने वाला किस तरह का सामाजिक सरोकार कर रहा है?और अलेक्सा रैंकिंग मामले में इसका खुलासा होने पर महाशय इसको गंदी हरकत बताते हैं।ऐसों को कथित सम्मान दे आप बताना क्या चाह रहें हैं?जो किसी की मौत की खबर पर भी nice कह निकल लेता हो वह क्या सामाजिक चेतना जगाता है
    पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
    super nice
    डॉ टी एस दराल said...
    सब को बधाई और नाईस।
    Anonymous said...
    the selection is totally wrong . samajik chetna kae liyae jinko samman diyaa jaa rhaa haen wo kewal aur kewal rudhivaditaa phelaa rahey haen aur sakriytaa bhi koi cheez hotee haen nomination mae koi aapti nahin hotee kyuki wo paathak ki pasand haen
    Arvind Mishra said...
    ब्लॉग त्रिदेवों को नमन


    --
    plz visit : -

    http://limtykhare.blogspot.com

    http://dainikroznamcha.blogspot.com

    http://visfot.com/author/limty

    http://www.pravakta.com/?author=3833

    http://mediamanch.com/Mediamanch/NewSite/Index.php

    3 टिप्‍पणियां:

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz