अमिताभ बच्‍चन : जन्‍मदिन है आयु का इक जहाज (अविनाश वाचस्‍पति)

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:

  • जन्‍म दिन है आयु का इक जहाज

    रूठे को मनाने का होता है रिवाज


    फिर क्‍यों मनाने का बजता है साज

    विचार करो इस प्रश्‍न पर सब आज


    कैसा इंसान का यह मिल जुल मन

    मंगलकामनाएं मुबारकबाद देते जन


    गिनाते हैं साल फिर देते हैं जी बधाई

    काटते हैं केक भरते हैं मुंह भी मिठाई


    केक ने क्‍या गुनाह किया बताओ दोस्‍तो

    हमने काट दिया क्‍यों बांट दिया है सोचो


    शब्‍दों से मीठी नहीं कभी कोई भी मिठास

    जान मान लो तो मन नहीं रहे कोई आस


    जन्‍म दिन है अमिताभ बच्‍चन का आज

    प्‍यार भरे दो शब्‍द पूरे करेंगे सगरे काज


    ब्‍लॉगर भी हैं वे पूरी अदाकारी के साथ

    देखने चलते हैं हम सब इसे मिल आज।

    5 टिप्‍पणियां:

    1. अमित जी,
      आज जन्मदिन पर आपको तोहफा देने की बजाय आपके चाहने वाले आपसे तोहफा मांग रहे हैं...हमारा विजय हमें लौटा दो...हमें बिग बॉस नहीं, सिस्टम को तोड़ने वाला विजय चाहिए...चाहे एंग्री ओल्डमैन ही सही...क्योंकि शेर बूढ़ा भी हो जाए शेर ही रहता है...कभी घास नहीं खाता...

      जय हिंद...

      उत्तर देंहटाएं
    2. अमिताभ बच्‍चन जी, जन्‍मदिन मुबारक!!!!

      उत्तर देंहटाएं
    3. अमिताभ बच्‍चन जी को जन्‍मदिन की बहुत बहुत बधाई !!

      उत्तर देंहटाएं
    4. अमिताभी बच्चन जी जन्मदिन की बहुत शुभकामनायें ...!!

      उत्तर देंहटाएं
    5. अमिताभ बच्चन जी के जन्म दिन पर उन्हे आपके ब्लोग के माध्यम से अन्गिन शुभ्कामनाये

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz