नवभारत टाइम्‍स दीपावली 2009 वार्षिकांक में हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग पर अनुराग अन्‍वेषी का एक महत्‍वपूर्ण आलेख नेट के सागर में हिंदी का मोती

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:
  • आप इस लेख को पढ़ने के लिए नीचे चित्रों पर क्लिक करके पूरे लेख का भरपूर आनंद ले सकते हैं जिसमें हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग के सफर का चित्रण किया गया है।







    12 टिप्‍पणियां:

    1. नुक्कड़ के सभी सदस्यों-पाठकों को दीपावली की शुभकामनायें!

      उत्तर देंहटाएं
    2. अच्छा लिखा है। लेकिन कुछ तथ्यात्मक भूले हैं। मोहल्ला की शुरुआत सन 2004 में बतायी गयी है। जबकि मोहल्ला फ़रवरी 2207 में शुरु हुआ। पहली पोस्ट यह है। http://mohalla.blogspot.com/2007/02/blog-post_7434.html

      मोहल्ले के आने के तीन साल पहले भी बहुत कुछ हुआ हिन्दी ब्लागिंग में। वह सब समेटना मुश्किल रहा होगा एक लेख में।

      उत्तर देंहटाएं
    3. वाकई अनुराग अन्‍वेषी जी ने हिन्‍दी ब्‍लागिंग के बारे में विस्‍तार से लिखा है !!

      उत्तर देंहटाएं
    4. हिन्दी ब्लागिंग अब अपनी पहचान बनाने लगी है ।
      आप स्ब को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाऎँ!!!!!

      उत्तर देंहटाएं
    5. अच्छा लगा जानकर कि नवभारत वालों ने हम ब्लॉगरों को अपने दिवाली विशेषांक में स्थान दिया है।

      उत्तर देंहटाएं
    6. दीपावली, गोवर्धन-पूजा और भइया-दूज पर आपको ढेरों शुभकामनाएँ!

      उत्तर देंहटाएं
    7. बढ़िया आलेख..एक साथ काफी कवर लिया है. बधाई.

      सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
      दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
      खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
      दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

      -समीर लाल ’समीर’

      उत्तर देंहटाएं
    8. बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!बधाई!!!!

      उत्तर देंहटाएं
    9. हर बार की हर इतिहास गड़बड़ हो गया, वैसे भी भारत में गलत इतिहास लिखने की परम्‍परा जो बन गई है। जैसा कि अनूप जी ने दर्शाया है।


      हर बार की अपेक्षा कुछ नये नाम जानने को मिले, सम्‍भव नही है कि हर ब्‍लाग को पढ़ जा सके किन्‍तु ऐसे समाचारो से ब्‍लागो के बारे में जानकारी मिली जिसे आगे देखने और पढ़ने का प्रयास रहेगा।

      दीपोत्सव पर्व की बहुत बहुत बधाई। दीपावली के दियों से निकलने वाली रौशनी सम्पूर्ण विश्व का कल्याण करे, ऐसी कामना है।

      उत्तर देंहटाएं
    10. तथ्यात्मक भूल बताने की हड़बड़ी में हमने फ़रवरी 2007 की जगह फ़रवरी 2207 टाइप कर दिया। कुछ इसी तरह हुआ होगा यह लेख लिखने में भी!

      उत्तर देंहटाएं
    11. इस दीपावली में प्यार के ऐसे दीए जलाए

      जिसमें सारे बैर-पूर्वाग्रह मिट जाए

      हिन्दी ब्लाग जगत इतना ऊपर जाए

      सारी दुनिया उसके लिए छोटी पड़ जाए

      चलो आज प्यार से जीने की कसम खाए

      और सारे गिले-शिकवे भूल जाए

      सभी को दीप पर्व की मीठी-मीठी बधाई

      उत्तर देंहटाएं
    12. अच्‍छी प्रस्‍तुति, दीपावली की शुभकामनायें ।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz