न इस पोस्‍ट को पढ़ें, न चटका लगायें और न टिप्‍पणी दें (अविनाश वाचस्‍पति)

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:

  • सिर्फ बोलें
    जय जन्‍माष्‍टमी
    और प्रेम से
    मन से
    नमन करें।

    23 टिप्‍पणियां:

    1. नुक्कड़ के समस्त रचनाकारों को हमारी तरफ से कृष्ण जन्माष्टमी और स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई..


      विनोद पांडेय
      http:\\voice-vinod.blogspot.com

      उत्तर देंहटाएं
    2. मार्केटिंग की यह नई तकनीक भी पसंद आई, आपको भी जन्माष्टमी की शुभकामनाये !
      जय श्रीकृष्ण !

      उत्तर देंहटाएं
    3. आपके कहे अनुसार न पढा .. न चटका लगाया .. और न ही टिप्‍पणी की .. जन्‍माष्‍टमी की बहुत बहुत बधाई !!

      उत्तर देंहटाएं
    4. आपकी धार्मिक भावना की कद्र करते हुए हम पूरी ताकत से कह रहे हैं- जय य य य य य य य ! जन्माष्टमी मी मी मी मी मी मी मी ! सभी हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, इसाई को जन्माष्टमी की शुभ कामनाएं !

      उत्तर देंहटाएं
    5. श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ। जय श्री कृष्ण!!
      ----
      INDIAN DEITIES

      उत्तर देंहटाएं
    6. न पढ़ा, न टिपण्णी किया, और न चटका लगाया ....केवल जय श्रीकृष्ण ....सभी को जन्मस्तामी की शुभकामनायें .....

      उत्तर देंहटाएं
    7. भई अविनाश जी, हमने तो आपकी हुक्मअदूली करके पोस्ट पढ भी ली ओर टिप्पणी भी कर दी। अब आप चाहे तो इसे स्वीकार करें या फिर वापिस लौटा दें:)

      उत्तर देंहटाएं
    8. अच्छी रचना
      कृष्ण जन्माष्टमी की व स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

      उत्तर देंहटाएं
    9. आपके कहे का अक्षराक्शः पालन .....जय श्री कृष्ण

      उत्तर देंहटाएं
    10. पोस्ट पढ ली गलती से
      कोइ चटका नही़ दिया
      और टिप्प्णी क्य है बस यही हक लो

      जय जन्माष्टमी

      हरि शर्मा

      उत्तर देंहटाएं
    11. पोस्ट पढ ली गलती से
      कोइ चटका नही़ दिया
      और टिप्प्णी क्य है बस यही हक लो

      जय जन्माष्टमी

      उत्तर देंहटाएं
    12. जय जन्‍माष्‍टमी जय श्री कृष्णा |

      उत्तर देंहटाएं
    13. अविनाश जी,
      आपसे एक बिनती है...क्या पूरी हो सकती है?
      "एक सवाल तुम करो" इस ब्लॉग को नीरज कुमार जी,तथा मैंने, सामाजिक सरोकार को मद्दे नज़र रखते हुए,एक खुला प्रश्न मंच बनाया है..आपसे anurodh कर सकती हूँ,कि, इस पे आप भी कभी ek दो सवाल कर दें? जो आपके मनके करीब हों..या जिसका आजके समय से वास्ता हो?
      शमा

      http://shamasansmaran.blogspot.com

      http://kavitasbyshama.blogspot.com

      http://shama-baagwaanee.blogspot.com

      http://shama-kahanee.blogspot.com

      उत्तर देंहटाएं
    14. http://shama-shamaneeraj-eksawalblogspotcom.blogspot.com/

      Aapke jawab kaa intezaar rahega..
      snehadar sahit
      shama

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz