नैनो बस गयी नैनों मे

Posted on
  • by
  • विनोद कुमार पांडेय
  • in
  • टाटा की नैनो कार जल्द ही बाज़ार मे आने वाली है..अब देखिएगा कार बाज़ार मे क्या-क्या परिवर्तन हो सकते है. आज आप नुक्कड़ पर मेरे कविता के माध्यम से कार के परिवर्तित रूप का काल्पनिक आनंद लीजिए.धन्यवाद.

    दिखने से पहले ही, नज़रों को भाने लगा,
    जब टाटा के लखटकिया का, एडवरटायज आने लगा|
    मोटर मार्केट मे एकदम से, हल्ला मचाकर रख दिया,
    मारुति,सुज़ुकी के मालिकों को भी, नचा कर रख दिया||

    हीरोहोंडा,बज़ाज़,अरिश्मा,करिश्मा,सब बेकार लगा,
    मंहगाई के दौर में ,जब इतना सस्ता कार लगा|
    चारो तरफ एक इमर्जिंग ब्रांड, बन गयी है नैनो,
    और इस साल के दूल्हों की,पहली डिमांड बन गयी है नैनो||

    कारों के कार मे ,सुपरस्टार हो गया है,
    नवयुवकों के लिए तो,चमत्कार हो गया है||
    बाइक बेचकर, नैनो की बुकिंग करवा रहे हैं,
    और 3000 की किस्त ,अपने बाप से भरवा रहे हैं||

    कुछ बाप तो हर हाल मे ,नैनो लेंगे ही लेंगे,
    इससे सस्ता और बढ़िया, बेटे को गिफ्ट मे क्या देंगे|
    पप्पू का बाप उसके बारे मे ,सोचकर डर रहा है,
    He Can't Drive,फिर भी नैनो की खरीद कर रहा है||

    सारा भारत जय हो नैनो के, गीत गा रही है,
    कार कम्पटीसन की रफ़्तार ,तेज होती जा रही है|
    फिर किसी दिन बज़ाज़,75000 मे बैनो लेकर आ जाएगी,
    और मारुति की मैनो, 50000 मे ही लहराएगी ||

    फिर तो शोरूम नही,दुकानो मे कारों के मेले लगेगें,
    एक-दो खरीदने वालों को, तो झमेले लगेगें|
    साल मे एक दिन ,एक ट्राली लेकर जाएँगे,
    और दो चार नैनो,एक साथ लेकर आएँगे||

    पत्नी,बेटे,बेटी को एक एक गिफ्ट कर देंगे,
    एक-दो फ्यूचर यूज के लिए ,बरामदे मे शिफ्ट कर देंगे|
    एक रख लेंगे दूध,अख़बार और सब्जियाँ लाने के लिए,
    एक रामू काका को दे देंगे,घर आने और जाने के लिए||

    कपड़ो की तरह लोग कार बदलने लगेंगे,
    आरामतलब और अईयासी मे ढलने लगेंगे|
    इस दीवाली पे कार के बाज़ार मे भी लूट मिलेगी,
    3 खरीदने पर (40+10)% की छूट मिलेगी||

    सड़क पे आम आदमी से ज़्यादा कार घूमेगी,
    60-70-80 की रफ़्तार चूमेगी||
    पर कभी कभी मौज की जिंदगी भी हराम हो जाएगी,
    चौराहे तो चौराहे जब गलियाँ तक जाम हो जाएगी||

    घिसकते घिसकते नैनो के पग, थक जाएँगे ,
    कार मे बैठे नैनो के सरताज़ ,भी पक जाएँगे||
    धुँआ,पेट्रोल,डीज़ल से जब, गमगमा उठेगा माहौल,
    कभी खुशी कभी गम ,जैसा हो जाएगा नैनो का रोल||

    नैनो से जुड़े परिवर्तन के, और तत्व भी हैं,
    नैनो के अपने सामाजिक ,महत्व भी हैं||
    सबको बराबरी पर लाने वाले,समाज़ के नीतियों को बल मिलेगा,
    जब वर्ग समुदाय को नैनो के रूप मे ,खुशहाल कल मिलेगा||

    फिर भी मध्यमवर्गीय बाप, अब भी स्कूटर पर ही जाएगा,
    और कार खरीद कर, बेटी के ससुराल पहुँचाएगा||
    इस लखटकिया से उसका असहनीय, दुख कट जाएगा,
    और दहेज की बलिहारी ,निर्दोष बालाओं का रेट कुछ घट जाएगा||

    3 टिप्‍पणियां:

    1. बहुत बढ़िया जब नेनो बस गई नैन में भाई जल्दी ले लीजियेगा.

      उत्तर देंहटाएं
    2. bahut hi khoobsoorat kavita ......wakai sach bayan kar diya bhavishya ka.

      उत्तर देंहटाएं
    3. हा हा.... बहुत बढ़िया !

      ... फिलहाल हम तो मारुती की ५०००० वाली मैनो का ही इंतज़ार करेंगे.

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz