बुद्धि‍जीवी

Posted on
  • by
  • Kajal Kumar
  • in
  • Labels:
  • टी.वी. पर एक ग़ज़ब तरह की प्रजाति दि‍खाई देती है जो,
    ➡ बुद्धि‍जीवी होने का सॉलि‍ड ढोंग भरती है,
    ➡ सरकारों के सभी काम ग़ल बताती है,
    ➡ राजनेताओं और नौकरशाहों को भ्रष्‍ट और नि‍कम्‍मा बताती है.
    ➡ लेकि‍न सि‍वि‍ल सर्वि‍स के चारों चांस में फेल हो चुकी होती है,
    ➡ सरकारी ख़र्चे का कोई लाभ लेने से कभी नहीं चूकती और
    ➡ मौक़ा लगते ही राज्‍यसभा की टि‍कट जुगाड़ लेती है (धन्‍य हैं ये परजीवी)
    00000 

    3 टिप्‍पणियां:

    1. :)
      काहे से कि दूसरों की गलती बताने में कुछ नहीं जाता है..

      उत्तर देंहटाएं
    2. नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं
      आपकी यह पोस्ट 3-1-2013 को चर्चा मंच पर चर्चा का विषय है
      कृपया पधारें

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz