दो मुल्लाओं में हुई, मुर्गी आज हराम- रविकर

Posted on
  • by
  • रविकर
  • in
  • दो मुल्लाओं में हुई, मुर्गी आज हराम ।
    छुरी फिराते ही रटी, राम राम श्री राम । 
     
    राम राम श्री राम, गिरी संता के घर पर।
    बैठा बोतल खोल, मारता उसे झटक कर ।
     
    झटका और हलाल, दौड़ कर मुल्ला आया ।
    दोनों ठोकें ताल, देख रविकर घबराया ।। 
     

    1 टिप्पणी:

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz