25 मार्च 2012 को दिल्ली में मिलेंगे कवि, यायावर, ब्लॉगर राजेश उत्साही/बलराम अग्रवाल

Posted on
  • by
  • बलराम अग्रवाल
  • in
  • Labels:
  • दोस्तो,
    राजेश उत्साही
    उपर्युक्त ब्लॉग्स के ब्लॉगर राजेश उत्साही को उनकी कविताओं और यायावर वृत्तांतों आदि के माध्यम से आप सभी जानते हैं। हाल ही में सम्पन्न 20वें विश्व पुस्तक मेले में उनके कविता संग्रह वह, जो शेष है का विमोचन वरिष्ठ कवि मदन कश्यप के हाथों साहित्यकार डॉ॰ शेरजंग गर्ग व कथाकार-सम्पादक संजीव आदि के सान्निध्य में सम्पन्न हुआ था। अपने कार्य के सिलसिले में दिनांक 16 मार्च से 25 मार्च 2012 तक वे बंगलौर से दिल्ली-रोहतक-जबलपुर-दिल्ली के टूर  पर रहेंगे। अपने अति व्यस्त और थका देने वाले कार्यक्रम से 2-3 घंटे हमने दिल्ली के मित्रों के लिए निकालने का अनुरोध उनसे किया है, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है। यह मिलन समारोह एकदम अनौपचारिक तरीके से, कनॉट प्लेस स्थित (मोहनसिंह पैलेस के बराबर वाले श्रीहनुमान मन्दिर के ठीक सामने, सड़क के उस पार) कॉफी होम में सम्पन्न करना निश्चित हुआ है। फोन पर भाई अरुण चन्द्र रॉय, अविनाश वाचस्पति, सुभाष नीरव, रामेश्वर काम्बोज हिमांशु, रूपसिंह चन्देल, सुरेश यादव आदि कुछ मित्रों की सहमति प्राप्त हो गई है। रविवार का दिन है। दिल्ली-एन॰सी॰आर॰ में रहने वाले मित्र व उनके प्रशंसक भेंट करने का समय  निकाल सकें तो बेहतर होगा। समय रहेगादोपहर 12.30 बजे से 1.30 बजे के बीच कभी भी। कार्यक्रम में यदि कोई संशोधन हुआ तो इसी पोस्ट पर सूचना दे दी जाएगी।

    11 टिप्‍पणियां:

    1. अवश्‍य पहुंचें साथियों मैं भी पहुंच रहा हूं।

      उत्तर देंहटाएं
    2. अच्छा मौका है कोशिश करेंगे अगर सम्भव हुआ तो।

      उत्तर देंहटाएं
    3. आप सब मित्रों से रूबरू मिलना मेरी एक और उपलब्धि होगी। धन्‍यवाद बलराम जी और अरुण जी का वे इसके लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं।

      उत्तर देंहटाएं
    4. आप आयें --
      मेहनत सफल |

      शुक्रवारीय चर्चा मंच
      charchamanch.blogspot.com

      उत्तर देंहटाएं
    5. rahte to hum bhi yahin hai agr sanyog hua milne ka to pahuch jayege

      उत्तर देंहटाएं
    6. ब्लोगर नेहा मिलन के लिए शुभकामनाएं .

      उत्तर देंहटाएं
    7. शुभकामनाएं. मुझे तो इस बात की संतुष्टि होगी कि घर बैठे कमसे कम उनके बेटे कबीर से मुलाक़ात होगी ही.

      उत्तर देंहटाएं
    8. स्‍वास्‍थ्‍य आज बहुत नरम है। मन किसी कार्य में नहीं लग रहा है। देखें कल तक क्‍या हालत रहती है। इच्‍छा तो बहुत है मिलने की।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz