यह प्रामाणिक है परंतु प्रत्‍येक को अलग अलग बतलाऊं पासीबल नहीं है

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels: , ,
  • Inj. Pegasys 135mg दिनांक 17 दिसम्‍बर 2011 को दोपहर दो बजकर बीस मिनिट पर इंस्‍टीच्‍यूट लीवर एंड बायलरी साईसेंज, वसंत कुंज में लगाया गया है। इससे पहले 13 दिसम्‍बर से दो दो कैप्‍सूल Ribavirin and 1 capsule Festovit के दिन में दो दो बार ले रहा हूं। यह हैपिटाइटिस सी की चिकित्‍सा है। छह महीने लगातार चलेगी। प्रत्‍येक सप्‍ताह एक इंजेक्‍शन लगाया जाएगा, उससे पहले रक्‍त जांच करवाई जाएगी। स्‍वस्‍थता की ओर मेरे शरीर की दौड़ जबकि नुकसान सिर्फ लीवर को हुआ है। अभी कुछ बुखारीय महसूस कर रहा हूं और सिर में हल्‍का सा दर्द।

    9 टिप्‍पणियां:

    1. आप जल्द से जल्द स्वस्थ हों यही कामना करते हैं।

      उत्तर देंहटाएं
    2. शुभकामनायें..... जल्द स्वस्थ हों यही प्रार्थना है ईश्वर से

      उत्तर देंहटाएं
    3. आप जल्द से जल्द स्वस्थ हों ईश्वर से यही प्रार्थना है।

      उत्तर देंहटाएं
    4. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

      उत्तर देंहटाएं
    5. चिकित्‍सा कारणों से कम से कम आगामी 6 महीनों तक शनिवार के दिन किसी कार्यक्रम में कहीं पर भी शामिल नहीं हो पाऊंगा। मित्रगण क्षमा करेंगे और दुश्‍मनों ने तो पहले ही माफ कर दिया है।

      उत्तर देंहटाएं
    6. जल्द स्वस्थ हों यही प्रार्थना है ईश्वर से

      उत्तर देंहटाएं
    7. आप शीघ्र स्वस्थ हों यही कामना है .....!

      उत्तर देंहटाएं
    8. 1.Garlic
      2.Fresh Coconut water
      3.Juice of Reddish and its tender leaves
      4.Juice of Turnip Leaves
      5.Beet root
      6.Fenugreek (H.Methi)
      7.Figs with Honey
      8.Grapes
      9.Sage Herbal Tea
      10 Lemon
      11.Water melon
      12.Water melon seeds grounded and honey
      13.Musk Melon Seeds
      14.Bitter gourd Juice cup full with honey
      15 Mint leaves (Pudina)
      16.Walnut Tea
      17. Raw Papaya
      18. Seeds of Gooseberry (H. Bathua)
      19. Onion in fresh lemon juice
      20. Fresh Sugar cane juice

      उत्तर देंहटाएं
    9. अन्ना जी, इश्वर से तहे-दिल से, आपके जलदी से तंदुरस्त होने कि प्रार्थाना करते हे,

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz