काका हाथरसी और मैं : शोध दिशा पत्रिका का एक पन्‍ना

शोध दिशा के आजीवन सदस्‍य बनें और हिन्‍दी साहित्‍य निकेतन के समस्‍त प्रकाशन आधे मूल्‍य पर प्राप्‍त करें। शोध दिशा पत्रिका नया अंक काका हाथरसी पर केन्द्रित विशेषांक है। 

4 टिप्‍पणियां:

  1. हाथरसी काका पर मेरा, यह शोध पत्रिका पढ़ा
    देखभाल कर त्वचा की सुन्दर, सर्दी का रंग चढ़ा
    पढ़ते-पढ़ते रोक डाल्टन, स्वाद बारूद लगा
    जिंदगी का सफ़र दीवाली, बदला रूप भला

    आपकी उत्कृष्ट पोस्ट का लिंक है क्या ??
    आइये --
    फिर आ जाइए -
    अपने विचारों से अवगत कराइए ||

    शुक्रवार चर्चा - मंच
    http://charchamanch.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. खुबसूरत प्रस्तुति ||
    आभार महोदय |
    शुभकामनायें ||

    उत्तर देंहटाएं
  3. आज ही पत्रिका मिली , आपका आलेख पढा, अच्छा लगा, बधाई कबूल करें

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz