ब्लॉगोत्सव का इक्कीसवें दिन में प्रवेश, शुभकामनाएं अशेष !

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:
  • आज सुबह -सुबह रवीन्द्र प्रभात जी से दूरभाष पर बात हुई 
    परिकल्पना की नई परिकल्पना और उत्सव की प्रगति की जानकारी प्राप्त हुई 
    उन्होंने कहा डेढ़ महीने बीत गए उत्सव होते हुए 
    हर एक-दिन बाद दस-बारह पोस्ट प्रकाशित हुए 
    कुल मिलाकर शामिल हो चुके हैं अबतक साढ़े तीन सौ रचनाकार 
    इस बार उत्सव बढ़ रहा है एक नए कीर्तिमान की ओर लगातार 
    उन्होंने एक राज की बात बतायी 
    कि उन्हें भी मिल सकता है सम्मान जिन्हें पिछली बार मिला है भाई 
    इसबार सम्मान की राशि भी बढ़ेगी और संख्या भी 
    होगी एक पत्रिका में सारे पुरस्कृत रचनाओं की व्याख्या भी ......
    और भी बाते हुई मजेदार 
    लेकिन नहीं बताऊंगा इसबार 
    राज को राज रहने दो 
    ब्लॉगोत्सव रचनाकारों की परवाज़ रहने दो 
    समय कम है, जो शामिल नहीं हुए हैं अपनी रचनाएँ भेज दें
    साथ में फोटो और अपना विवरण सहेज दें 
    इस ई मेल आई डी पर :


    3 टिप्‍पणियां:

    1. अरे वाह्…………इस बार तो लगता है नये कीर्तिमान स्थापित होंगे।

      उत्तर देंहटाएं
    2. भारत तो है ही उत्सवों का देश, इसमें ब्लॉगोत्सव भी जुड़ गया अब।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz