भारत के कुश्ती किंग सुशील पहलवान शुकरवार शाम शादी के बंधन मैं बंध गये ....

Posted on
  • by
  • Anil Attri
  • in



  • नुकड़ परिवार इन दोनों को शादी कि बधाई देता हैं .........




    भारत के कुश्ती किंग सुशील पहलवान शुकरवार शाम शादी के बंधन मैं बंध गये ....

    शादी सुशील कि इस कारण ही अहं नही बल्कि इस कारण भी अहं हैं कि ये शादी कुश्ती गुरू महाबली सतपाल पहलवान कि बेटी के साथ हुई ...जब सुशील ने भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता था तो गुरू सतपाल ने सुशील के साथ अपनी बेटी सावी कि शादी कि भी घोषणा कर दी ...दोनों परिवार खुशी खुशी सहमत्त हो गये ..पूरी पारिवारिक रस्में हुई ....सगाई हुई सुशील कि शुक्रवार को घुडचडी हुई ..और शादी का भव्य मंडप बाहरी दिल्ली के अलीपुर एरिया मैं एक फ़ार्म हाउस मैं तेयार किया गया था ..जिसमें कई हजार लोग दिल्ल्ली व आसपास के राज्यों से पहुंचे ..कुश्ती के खिलाड़ी देश के कोने कोने से पहुचे ...शुक्रवार शाम सुशील व सावी ने एक दूसरे को माला पहनाकर व फेरे लेकर शादी कि .....इस शादी मैं वर वधू को आशीर्वाद देने दिल्ली कि मुख्यमंत्री शीला दीक्षित भी पहुंची ...शीला पहुचती तो विपक्ष भी कहाँ पीछे रहता BJP के राजनाथ सिंह आशीर्वाद देने पहुचे ...बाकी दिल्ली कई MLP व MP भी यहाँ भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाले सुशील कुमार को आशीर्वाद देने पहुचे ...सुशील इस वक्त कुश्ती मैं वर्ड चेम्पियन हैं अगस्त 2010 मैं सुशील कुमार ने मास्को मैं वर्ड चेम्पियनशिप जीती ... सुशील कुमार के मेडलों से खुश हो भारत सरकार ने 2011 मैं इसी साल इनको पद्म श्री सम्मान से नवाजा ..... इसके साथ इनके ग्रुरू हर वक्त रहे ..ये अपनी कामयाबी का पूरा श्रेय अपने गुरू सतपाल को देते हैं ...महाबली सतपाल पद्मश्री , अर्जुन अवार्ड , द्रोणाचार्य अवार्ड से पहले ही सम्मनित हैं ...भारत को कुश्ती के काफी अच्छे प्लेयर सतपाल ने दिये ....सुशील के काम से ये इतने खुश हुए कि अपनी बेटी कि शादी सुशील से कर दी .......अब इस बंधन से दोनों परिवार खुश हैं ............ नुकड़ परिवार इन दोनों को शादी कि बधाई देता हैं .........

    अनिल अत्री ................

    3 टिप्‍पणियां:

    1. अरे महाराज बड़े बड़े पहलवान हार गए ... आप क्या हो ... खैर हार्दिक बधाइयाँ !

      उत्तर देंहटाएं
    2. बधाइयाँ………मगर हम तो कल उनकी वजह से बहुत परेशान हो गये…………2 घंटे जाम मे फ़ंस गये क्योकि वहीं हमे भी जाना था शादी मे उससे अगले फ़ार्म हाउस मे……………काफ़ी लोग तो वहाँ तक पहुँच भी नही पाये बीच रास्ते से ही वापस आ गये इतना तगडा जाम था…………एक की शादी बाकि आम जनता का बुरा हाल्………कहाँ तक जायज है ………मेरे ख्याल से बडे बडे लोगो को तो आम जनता की जगहो पर अपने समारोह नही करने चाहिये जिससे आम जनता परेशान ना हो……………इतने वी आई पी आयेंगे तो खुद सोचिये क्या हाल होगा?

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz