Posted on
  • by
  • Anil Attri
  • in




  • माँ तूने ये क्या किया ..?????????? तेरे किस्से तो दुनिया भर मै मशहूर है .......
    माँ की ममता तो मशहूर है ...लेकिन माँ तुने मुझे ये केसी सजा दी ..मै लडकी हूँ उसकी सजा या मै कोई अनचाही फरियाद ...यदि ये बच्ची ज़िंदा हिती तो माँ से यही सवाल करती ..... किसनगंज के नाले मै पड़ी ये नवजात बच्ची का मृत शरीर यही सवाल माँ से नही बल्कि इस तरह की सेकड़ों माताओं से कर रही है ..
    दिल्ली के किशनगंज क्षेत्र के नाले से आज सुबह एक तीन दिन की नवजात बच्ची का शव मिलने से यहाँ सनसनी फ़ैल गयी... यहाँ से गुजरने वाले एक राहगीर ने जब लघुशंका के लिए नाले की तरफ अपने कदम बढाए तो वहां नाले में उसे किसी नवजात बच्ची पडी दिखाई दी.... इस तरह नाले में नवजात बच्ची को देखकर उसने शोर मचाया और आसपास से गुजरने वाले लोगों ने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी....
    किशनगंज क्षेत्र के नाले में नवजात बच्ची का शव मिलने का समाचार मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँच गयी और बच्ची का शव अपने कब्जे में लेकर उसे पोस्ट मार्टम के लिए बाड़ा हिन्दूराव हॉस्पिटल भेज दिया ... जहाँ समाज में कुछ लोग अपनी संतान पाने के लिए ना जाने क्या-क्या उपाय करते हैं, वहीँ इस तरह से अपने ही कलेजे के टुकड़े को यूं इस तरह गंदे नाले में मौत के नींद में सुलाने वाली वो अभागी मां कौन है? इस सवाल का जवाब खोजने में पुलिस जुट गयी है....
    अनिल अत्तरी दिल्ली .....................

    8 टिप्‍पणियां:

    1. संवेदनशीलात दुलर्भ होती जा रही है
      रिश्‍ते नातों का कोई मोल नहीं रह गया है

      उत्तर देंहटाएं
    2. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

      उत्तर देंहटाएं
    3. ये इस दुनिया का सबसे बडा दुर्भाग्य है, जो जननी ही हत्यारी बन रही है ये सब केवल उस दहेज नामक दैत्य का ही प्रकोप है जिसे हमारे समाज के कुछ बुध्दिजीवियो ने प्रातिष्ठा का नाम दिया है, और मनावता का समूल नाश कर दिया है।

      उत्तर देंहटाएं
    4. अपने पापों की सजा एक मासूम को!
      मानवता के नाम पर कलंक!

      उत्तर देंहटाएं
    5. अगर इस की मां या बाप जो भी इस कर्त मे शामिल हो पकडे जाये तो उन्हे भी ऎसे ही फ़ेंका जाये, इस गंदे नाले मे.... लानत हे जी इन पर

      उत्तर देंहटाएं
    6. विवाह पूर्व के प्रेम-प्रसंग का परिणाम ही मोटे तौर पर लगता है यह.

      उत्तर देंहटाएं
    7. अपने पापों की सजा एक मासूम को!
      मानवता के नाम पर कलंक!

      शास्त्री जी से सहमत हूँ।

      उत्तर देंहटाएं
    8. शायद बेटा होती ये masoom तो नाले की जगह किसी आरामदायक बिस्तर पर मिलती सबका प्यार पाती हुई ...........पर अफ़सोस बेटी रही इसीलिए मार डाली गयी चाहे इसका जन्म जायज हुआ हो या नाजायज .. मैंने अबतक के अपने होश में किसी लड़के शिशु को कही फेंका हुआ मिला , नहीं सुना जब भी सुना लड़की फेंकी हुई ........कितना घिनौना होता जा रहा है हमारे समाज का रूप..........लानत है

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz