ऊर्जावान युवा हिन्‍दी ब्‍लॉगर नीशू तिवारी को नुक्‍कड़ से कुछ दिनों के लिए अवकाश पर भेजा गया

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels: ,
  • लोकसंघर्ष को लोकार्पित करते नीशू तिवारी
    नीशू तिवारी 
    इससे पहले कि नीशू तिवारी को कोई गलतफहमी हो और वे कोई हंगामा मचायें। सबकी जानकारी में यह लाया जाता है कि नुक्‍कड़ ब्‍लॉग की लेखन सदस्‍यता से उन्‍हें कुछ समय के लिए अवकाश पर भेज दिया गया है क्‍योंकि सब परिचित ही हैं कि वे आजकल ऊर्जा सहेजने की प्रक्रिया से गुजर रहे हैं। जैसे ही उनमें ऊर्जा का असीम प्रवाह देखा जायेगा, उन्‍हें नुक्‍कड़ से जुड़े हुए अन्‍य किसी ब्‍लॉग का आमंत्रण भेज दिया जायेगा ताकि वे अपनी सक्रियता से इस समूह के किसी हिन्‍दी ब्‍लॉग को लोकप्रियता की ऊंचाईयों तक पहुंचा सकें।

    विश्‍वास है कि नीशू तिवारी के प्रशंसक और वे स्‍वयं इसको अन्‍यथा नहीं लेंगे और सहयोग बनाये रखेंगे।
    इस आशय की सूचना उन्‍हें ई मेल के जरिए भेज दी गई है। ज्ञातव्‍य है कि प्रिय नीशू तिवारी हिन्‍दी साहित्‍य मंच, मीडिया व्‍यूह, साइबर संसार, शब्‍दकार, नीशू के अल्‍फाज़ ब्‍लॉगों से और महाशक्ति समूहजूनियर ब्‍लॉगर एसोसिएशन के संस्‍थापकों में से एक हैं।
    श्री गिरीश बिल्‍लौरे 'मुकुल' को उनके स्‍थान पर नुक्‍कड़ से जोड़ा गया है। यह परिवर्तन नुक्‍कड़ में 100 सदस्‍य लेखक पूरे होने के कारण किया गया है। वैसे हमें मांग करनी चाहिये कि ब्‍लॉगस्‍पॉट को सामूहिक ब्‍लॉगों के लेखकों की सदस्‍यता 100 से बढ़ाकर 1000 कर देनी चाहिये। तभी हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग का त्‍वरित विकास हो सकेगा।

    8 टिप्‍पणियां:

    1. अविनाश जी,
      अब ब्लोगिंग में भी अवकाश ? एक नया प्रयोग किया है आपने

      उत्तर देंहटाएं
    2. अविनाश जी!
      कारण कुछ भी हो लेकिन अच्छा लगा आपका यह अभिनव प्रयोग

      उत्तर देंहटाएं
    3. हम स्वागत करते है गिरीश दादा का ! आपका आभार !

      उत्तर देंहटाएं
    4. नीशू मेरे ब्लोग मिसफ़िट:सीधी बात एवम Girish Billore Live पर स-नेह आमंत्रित हैं आमंत्रण भेज रहा हूं

      उत्तर देंहटाएं
    5. ब्लोगेर भी अवकाश पे जाते हैं? वैसे यह अविनाश जी और नीशू तिवारी का अपना फैसला है. मैं क्या कहूँ..?

      उत्तर देंहटाएं
    6. प्रिय अविनाश जी,
      हरामखोर, मातृ संभोगी योनी निकसित नीच प्राणी लंडकेशं बुद्धिहिनं तेरी मैया का चोदों

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz