ब्‍लॉग गायब हो रहे हैं, सावधानी बरतें : फिर मत कहियेगा खबर न हुई

कल एक मासूम ब्‍लॉगर का अमन का पैगाम गायब हो गया और आज अरूण सी. राय के सरोकार के निराकार होने की सूचना लिखचीत पर मिली है। एक दो जगह टिप्‍पणियों में भी ऐसे ही समाचार मिल रहे हैं। यह दुखद हैं परंतु नियति पर सिर्फ सावधानी का ही बस है। 
इमेज पर क्लिक करके देखें
नीचे दिए गए स्‍नैप शॉट देख लें। अपने ब्‍लॉग के डेशबोर्ड में जाकर सैटिंग्‍स पर क्लिक करें। फिर ब्‍लॉग का निर्यात करें पर क्लिक करें परंतु और भी अधिक सावधानी के साथ अगर, गलती से भी ब्‍लॉग हटाएं पर क्लिक हो गया तो सब मटियामेट हो जाएगा। जिससे बचने के लिए कार्यवाही की जा रही है, मतलब अपने हाथों से ही अपने ब्‍लॉग की खुदकुशी हो जाएगी। जो जाहिर है खुदखुशी से नहीं की गई होगी। 
क्लिक करें और देखें
इसके बाद ब्‍लॉग डाउनलोड पर क्लिक करे और नीचे देखें 
क्लिक करें और देखें
लिखा दिखलाई दे रहा होगा This type of file can harm your computer. Are you sure you want to download blog-12-09-2010,xml? आप save पर क्लिक कर लें। कुछ ही समय में फाईल डाउनलोड हो जाएगी। अब आप डाउनलोड की गई तिथि तक सुरक्षित हैं। ऐसी फाईलें सीधे कंप्‍यूटर पर नहीं खोली जा सकती हैं परंतु आप एक और ब्‍लॉग बनाकर उन्‍हें अपलोड कर सकते हैं। 

अब आपके ब्‍लॉग की सामग्री आपके कंप्‍यूटर की हार्डडिस्‍क में सुरक्षित है।

33 टिप्‍पणियां:

  1. अविनाश जी बढ़िया जानकारी दे है. वैसे कल मैं भी सोंचने लगा यह क्या हुआ, लेकिन मेरे पास xml फाइल थी. मैं अविनाश वाचस्पति जी का शक्र गुज़ार हूँ, की इन्होने हिम्मत दिलाई के सो जाओ सुबह गूगल महाराज सब ठीक कर देंगे. रात मैं बड़ी कोम्प्लैंस के बाद, पाता लगा कोई बग था...

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर जानकारी दी, बहुत उपयोगी भी।

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस जानकारी की जरुरत थी ...शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बहुत धन्यवाद अविनाश जी

    उत्तर देंहटाएं
  5. अविनाश जी
    जानकारी के लिये शुक्रिया
    कल ही पता चला .

    बहुत धन्यवाद.

    विजय

    उत्तर देंहटाएं

  6. बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

    आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

    आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

    उत्तर देंहटाएं
  7. अविनाश जी
    जानकारी के लिये शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  8. अविनाश जी
    जानकारी के लिये शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत बहुत शुक्रिया अविनाश जी मगर इसे दूसरे ब्लोग पर कैसे अपलोड करें वो भी बता दीजिये।

    उत्तर देंहटाएं
  10. मैंने अपना पुराना ब्लॉग खो दिया है..
    कृपया मेरे नए ब्लॉग को फोलो करें... मेरा नया बसेरा.......

    उत्तर देंहटाएं
  11. @ वन्‍दना जी

    दूसरे ब्‍लॉग पर अपलोड करने के लिए एक नया ब्‍लॉग खोलें अथवा किसी पुराने ब्‍लॉग की सैंटिग्‍स में जाकर ब्‍लॉग में आयात करें पर क्लिक करें और उस एक्‍सएमएल फाईल को अपलोड कर लीजिए।

    अविनाश मूर्ख है

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत ही काम की उपयोगी जानकारी दी है...

    उत्तर देंहटाएं
  13. अच्छा किया जी सबको याद दिला दिया। धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  14. आपकी यह रचना कल के ( 11-12-2010 ) चर्चा मंच पर है .. कृपया अपनी अमूल्य राय से अवगत कराएँ ...

    http://charchamanch.uchcharan.com
    .

    उत्तर देंहटाएं
  15. अविनाश जी
    जानकारी के लिये शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  16. @ शेखर कुमावत

    डरिए मत
    करिए, कुछ करिए
    हार्डडिस्‍क पर जैसे बतलाया है
    वैसे बैकअप लेकर रखिए
    फिर डर नहीं लगेगा

    उत्तर देंहटाएं
  17. अविनाश जी आप को ब्लॉगों की जो चिंता है ,उसके लिए आभार .

    उत्तर देंहटाएं
  18. बहुत ही अच्छा.....मेरा ब्लागः-"काव्य-कल्पना" at http://satyamshivam95.blogspot.com/ ....आप आये और मेरा मार्गदर्शन करे...धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz