जबलपुर-ब्लागर्स एसोसिएशन की कार्यशाला रिपोर्ट : हिंदी ब्लागिंग : विकास एवम संभावनाएं

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:
  • रिपोर्ट और चित्र कहां गए
    है न कितना विचित्र
    जबलपुर का बलशाली ब्‍लॉगिंग आयोजन
    6.30 बजे शाम से सूर्या होटल में संपन्‍न हुआ
    भव्‍य हुआ होगा
    दिव्‍य भी
    उसमें समीर लाल जी
    ललित शर्मा जी
    जी के अवधिया जी
    गिरीश बिल्‍लौरे जी
    महेन्‍द्र मिश्र जी
    और ये सब भी  कार्टूनिस्ट राजेश डूबे जी,बवाल जी,पंकज गुलुस, डाक्टर विजय तिवारी’किसलय’ मयूर बक्शी, विवेकरंजन श्रीवास्तव, सलिल समाधिया, प्रेम फ़रुख्खाबादी, आनंद कृष्ण ,शशिकान्त ओझा,संजू तिवारी 
    और वे सब भी 
    जिनकी उपस्थिति के बारे में मुझको ज्ञान नहीं है
    अज्ञानी हूं न
    पर जानने की घनघोर जिज्ञासा है
    आपकी तरह ही
    पर न आया एक चित्र
    न रिपोर्ट
    और न ही कोई कार्टून।


    क्‍यों भाई क्‍यों
    इतनी देरी क्‍यों
    क्‍या सभी फोटो
    पुरातन रील वाले कैमरों से कैद की गई
    और अब धुलने के लिए लैब में भेजी गई हैं
    एक भी रिपोर्ट नहीं
    इतना मौन क्‍यों
    आयें ब्‍लॉगर भाई आयें
    तुरंत ही पोस्‍ट लगायें
    जिससे मन हर्षाये
    अंतरिक्ष में मन मयूर नाचे
    चित्रों को नयनों से
    और शब्‍दों को मन से बांचें।

    15 टिप्‍पणियां:

    1. चलिए शुरूआत तो हुई रिपोर्ट आने की.. तसवीरें भी आ ही जाएंगे...इंतज़ार रहेगा

      उत्तर देंहटाएं
    2. hm bhii usi ke intzaar me ab tk jaag rhe hain.
      kb report aaye jabalpur se aur kb hm pdhe.

      उत्तर देंहटाएं
    3. अरे.. जबलपुर... इतने करीब इतना सब... ये कार्यशाला दुबारा कब तक होने की सम्भावना है??? और दुबारा होगी भी या नहीं...
      इस कार्यशाला के बारे में पढने को और कब मिलेगा???
      इंतज़ार रहेगा...

      उत्तर देंहटाएं
    4. ब्लागर्स एसोसिएशन की आयोजना, कार्यशाला रायपुर या बिलासपुर में तो कृपया हमें भी सुचना दे ताकि हम भी ईस में समिलित हो सके

      उत्तर देंहटाएं
    5. इंतज़ार है रिपोर्ट का..

      उत्तर देंहटाएं

    6. बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

      आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

      आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

      उत्तर देंहटाएं
    7. अविनाश जी ,
      इन्तजार करें
      आपकी बेसब्री वाजिब है.
      फिलहाल इन कड़ियों को ही देख लें --

      हिन्दी साहित्य संगम जबलपुर

      http://epaper.patrika.com/final/Patrika/Jabalpur/2010/20101202/17.pdf
      http://www.peoplessamachar.co.in/index.php?/book/310-date/5-jabalpur.html

      उत्तर देंहटाएं
    8. इसी का तो सुबह से इंतज़ार है।

      उत्तर देंहटाएं
    9. इंतज़ार है रिपोर्ट का ..

      उत्तर देंहटाएं
    10. आदरणीय मित्र ,

      मैंने भी एक छोटी सी पोस्ट लगायी है इस सम्मलेन पर . कृपया वहां भी पधारे.
      http://poemsofvijay.blogspot.com/2010/12/blog-post.html
      आपका शुक्रिया , आपसे फिर मिलने की आकांक्षा है .
      धन्यवाद.
      आपका
      विजय

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz