मनी यात्रा का सफ़र

Posted on
  • by
  • आकाँक्षा गर्ग ( Akanksha Garg )
  • in

  • प्रिय मित्रों ,
    पिछले कई दिनों मे जब गूगल सर्च का डाटा देखा तो जाना कि गूगल पर सबसे ज्यादा खोजा जाने वाला डाटा है अर्न मनी ऑनलाइन  यानि कि इन्टरनेट पर पैसा कमाने के तरीके तब सोचा कि लगभग हर नया इन्टरनेट उपयोगकर्ता सबसे पहले यही खोजता है की ऑनलाइन पैसा कैसे कमा सकते हैं तो क्यूँ ना इसी पर कुछ लिखा जाए | 
    पैसों के पेड़ का फल खाना आसान नहीं होता लेकिन अगर थोड़ी सी समझदारी के साथ थोडा सा धैर्य मिला दे तो हम घर बैठे भी पैसे बना सकते हैं |
    तो हमने बनाया है एक ऐसा मंच ( मनी यात्रा ) जहाँ हम हर रोज़ नेट से कमाई का एक नया तरीका सीखेंगे और अपनी जानकारी एक दूसरे से बांटेंगे |
    तो आप सब भी आमंत्रित हैं इस मनी यात्रा के सफ़र पर  , आप सब भी हमारे साथ इस सफ़र मे शामिल हों और अपने बहुमूल्य सुझाव और जानकारियां हमारे साथ बाटें | 
    इस सफ़र को शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें और इस सफ़र मे एक दूसरे का साथ दें और साथ मिल कर कमायें |
    सभी का जीवन खुशियों और धनधान्य से भरा रहे इसी शुभकामना के साथ आज के लिए अलविदा |

    9 टिप्‍पणियां:

    1. क्या मनी ही सब कुछ है?

      मैने तो अनेक पैसे वलो को अक्सर मुंह लटकाये ही देखा है.

      उत्तर देंहटाएं
    2. sachmuch aakanksha ji achha vishay talasha hai aapne.... ajkal bas paise ke peeche hi hain sab... vaise hame bhi aapki post se kuch achhe links mil kamai ka rasta khojane ke...... :) :) :)

      उत्तर देंहटाएं
    3. आप तो पहले रुपये के नए निशान वाली गठरी तैयार कीजिए। हम तो तब आयेंगे उसे बटोरने।

      उत्तर देंहटाएं
    4. अविनाश जी आपकी सलाह पर अमल करते हुए आपके लिए रुपये के नए निशान वाली नयी गठरी बना ली है |
      अब तो आप आ ही जाएँ इसे लेकर जाने के लिए |

      उत्तर देंहटाएं
    5. मनी हाय मनी,, नही भईया हमे चाहिये तो सही यह मनी लेकिन इतनी भी नही कि मुंह का स्वाद ही खराब हो जाये

      उत्तर देंहटाएं
    6. अरे वाह, पर मैं चाहता हूं, पहले सब ले लें। अगर कुछ बचेगा तो मैं भी ले लूंगा पर नुक्‍कड़ पर पहले आप सबका हक है, सबसे बाद में मेरा।

      उत्तर देंहटाएं
    7. bhayai jaan hm bhi laain men lge hen kuch bch jaaye to hmen bhi de denaa. akhtar khan akela kota rajsthan

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz