श्रेष्ठता का पैमाना :लोकसंघर्ष परिकल्पना सम्मान

Posted on
  • by
  • ravindra prabhat
  • in
  • Labels:
  • एक ऐसी गीतकार जो गीत रचती है, गीत बांचती है ...यहाँ तक कि गीत जिसका ओढ़ना-बिछौना है , गीत जिसका स्वप्न है , गीत जिसका खिलौना है....जो अपने नाम के साथ गीत लिखना पसंद ही नहीं करती, अपितु गीत जिसकी प्राण-उर्जा है ऐसा महसूस करती है . किन्तु आपको यह जानकर सुखद आश्चर्य होगा कि ब्लोगोत्सव-२०१० में प्रस्तुत उनकी टिप्पणी इतनी सारगर्भित रही कि उन्हें ब्लोगोत्सव की टीम ने उन्हें वर्ष की श्रेष्ठ महिला टिप्पणीकार का खिताब देते हुए सम्मानित करने का निर्णय लिया है !

    विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ किलिक करें

    एक ऐसा कवि जिसकी पहचान हिंदी चिट्ठाजगत में धूमकेतु के सामान है , जिनकी कवितायें हिंदी साहित्य को प्रयाग की पावनता प्रदान करती है , सुर-सरस्वती और संस्कृति की त्रिवेणी में डूबने को मजबूर कर देती है ,किन्तु ब्लोगोत्सव में उनके द्वारा प्रस्तुत सारगर्भित टिप्पणियों के लिए ब्लोगोत्सव की टीम ने उन्हें वर्ष के श्रेष्ठ टिप्पणीकार (पुरुष) का अलंकरण देते हुए सम्मानित करने का निर्णय लिया है !

    विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ किलिक करें

    ब्लोगोत्सव-२०१० पर अवश्य पढ़ें-
    सितारों की महफ़िल में आज हिमांशु
    सितारों की महफ़िल में आज संगीता स्वरुप

    आप शुभकामनाएं देना चाहते हैं तो उसी पोस्‍ट के लिंक पर क्लिक करके परिकल्‍पना ब्‍लॉगोत्‍सव 2010 की संबंधित पोस्‍ट पर ही देंगे तो पाने वाले और देने वाले - दोनों को भला लगेगा। यह भलापन कायम रहे।

    1 टिप्पणी:

    1. आप यह जानकारी सबके साथ निरंतर बांट कर बहुत अच्छा काम कर रहें हैं. धन्यवाद.

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz