जाने भी दो यारो का एक यार चला गया : रवि वासवानी का जाना बहुत दुखद है

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels: ,
  • जाने माने फिल्म अभिनेता रवि वासवानी का मंगलवार को दिल का दौरा पडने से निधन हो गया। 64 वर्षीय वासवानी का निधन शिमला में हुआ। । 1981 में चश्मे बद्दूर से कैरियर की शुरुआत करने वाले वासवानी ने  कॉमेडी फिल्म जाने भी दो यारो से खूब वाहवाही लूटी थी। इस फिल्म में उन्होंने एक प्रोफेशनल फोटोग्राफर का किरदार निभाया था, जिसके लिए उन्हें 1984 में बेस्ट कॉमेडियन का फिल्मफेयर अवॉर्ड दिया गया था। उन्‍होंने  टेलीविजन पर  और लाडला, कभी हां कभी ना, , प्यार तूने क्या किया, बंटीऔर बबली जैसी फिल्मों में भी काम किया।

    वासवानी की मौत पर जिन सितारों ने दुख जताया, उनमें अभिनेता अनुपम खेर ने ट्विटर पर लिखा, ‘अभी पता चला कि रवि वासवानी नहीं रहे। सुनकर दुख हुआ। कमाल के व्यक्ति थे। हमेशा खुशनुमा और मदद करने वाले।’ फिल्मकार मधुर भंडारकर ने लिखा, ‘रवि वासवानी की मौत की खबर सुनकर दुख हुआ। उनकी आत्मा को शांति मिले।’
    नुक्‍कड़ परिवार की विनम्र श्रद्धांजलि।

    8 टिप्‍पणियां:

    1. मैनपुरी के सभी कला प्रेमियों की ओर से श्री रवि वासवानी को विनम्र श्रद्धांजलि। भगवान् उनकी आत्मा को शांति दें !

      उत्तर देंहटाएं
    2. बड़ा दुखद, एक जीवन्त कलाकार का चला जाना।

      उत्तर देंहटाएं
    3. हम सभी रवि जी को भावभीनी श्रद्धांजली अर्पित करते हैं..उनके कृतत्व, अभिनय और भारतीय फिल्म जगत में उनका योगदान कभी नहीं भुलाया जा सकेगा..! नम आँखों सेनमन !

      उत्तर देंहटाएं
    4. जाने भी दो यारों, चश्मेबद्दुर बड़ी गजब की हास्य-ट्रेजडी फ़िल्मों मे अभिनय के लिए इन्हे हमेशा याद किया जाएगा।

      रवि जी विनम्र श्रद्धांजलि

      उत्तर देंहटाएं
    5. मेरी और से भी श्रद्धांजलि !!

      उत्तर देंहटाएं
    6. नुकड़ पर फिर मिलेगें
      हमे भी चांस दीजिये
      वादा करते है
      हमारा मन रखने के लिए
      लखनऊ की शान पर कुछ लिखने दीजिये
      jarasochobhai.blogspot.com को पढिये
      हम कानपूर के है अभी U S A में है जल्दी आ रहे है

      उत्तर देंहटाएं
    7. @ kamal mehrotra

      बिना मेल पते के
      मेल कैसे हो
      आपको नुक्‍कड़ की
      जेल कैसे हो

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz