हिन्‍दी ब्‍लॉगर अवश्‍य इस प्रयास को सायास लेंगे : प्रयास वार्षिक गतिविधियां –सत्र २००९-२०१०

आपको यह विवरण पढ़ना नीरस लग सकता है। पर गंभीर कार्य नीरस होते हुए भी सरस ही होते हैं। इनसे दीप्तिमान होता है जीवन रस। जिस जीवन रस की तलाश में हम सब जुटे हुए हैं।

प्रयास और प्रयास जो रही है अपनी बात
वार्षिक गतिविधियां –सत्र २००९-२०१०
सत्र २००९-१० में कुल ४९ बच्चों का प्रवेश हुआ जिसमें से आठ बच्चे पारिवारिक कारणों से दिसंबर परीक्षा के बाद उपस्थित ना हो सके |कुछ के माता-पिटा रोजी-रोटी की तलाश में शहर से बाहर चले गए तो कुछ का घर बहुत दूरी पर होगया|आज ४१ बच्चे अपने परीक्षा परिणाम जानने के लिए तैयार हैं|
यह सत्र विविध गतिविधियों से भरा-पूरा रहा है |सितंबर में शिक्षक दिवस पर बच्चों ने सर्वपल्ली राधाकृष्णन के विषय में जानकारी प्राप्त की|२५ अक्टूबर को निशुल्क चिकित्सा शिविर आर.के. विद्यालय में लगाया गया जिसमें प्रयास के बच्चों ,उनके अभिभावकों और अन्य व्यक्तियों के स्वास्थ्य की जांच की गई |शिविर में अस्थिरोग् विशेषज्ञ डा.अशोक गुप्ता ,स्त्री रोग विशेषज्ञ डा.शालिनी रंजन ,फिजियोथेरेपिस्ट ज्योति,नेत्र रोग विशेषज्ञ डा.सुनील सरन, और फिजिशियन डा.मनीश बंसल ने अपनी सेवायें दी|
२२ नवंबर को रोटरी क्लब की ओर एक्मे संस्थान में प्रयास के बच्चों को ड्रेस दी गई और प्रयास संयोजिका डा.बीना शर्मा का सम्मान किया गया|यह यात्रा बच्चों के लिए आउटिंग जैसी थी|वे बहुत प्रसन्न थे| बच्चों नेअपनी खुशी वहाँ गीत गाकर प्रकट की|दिसंबर महीने में अर्द्ध वार्षिक परीक्षाएं हुई|यह माह बच्चों की जानकारी के लिए विशेष रहा |११दिसम्बर को माइक्रोसोफ्ट के भाषा सलाहकार डा. विजय कुमार मल्होत्रा ,१२ दिसंबर को पेंसिल्वेनिया से डा. सुरेन्द्र गंभीर ,१७ दिसंबर को प्रख्यात कवि डा. अशोक चक्रधर ,२२ दिसंबर को पर्यावरणविद ओ.पी सरीन ,प्रोफ़ेसर मीरा सरीन ,भूतपूर्व विद्यालय प्रबंधक उषा जी प्रयास समिति में पधारे ,बच्चों से रूबरू हुए| अब तो यह हाल है कि जब बच्चों को पता चलता है कि हमारी संस्था में कोई आने वाला है ,वे अपने सवालों के साथ तैयार रहते हैं|
एक्मे संस्थान से बी.एड. के छात्रों ने २१-१२ और१०-०४ को कम्युनिटी प्रोग्राम के तहत प्रयास में शिक्षण कार्य किया |जनवरी माह में बसंत पंचमी और गणतंत्र दिवस कार्यक्रम आयोजित किया गया|३ मार्च को प्रयास का प्रथम स्थापना दिवस (पंजीकृत होने के बाद )मनाया गया जिसमें बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये|१३-०४ को अभिव्यक्ति वर्ग के बच्चे विज्ञान रेल देखने गए |७-०५ को बनारस से पधारी दन्त चिकित्सक मनीषा ने दांतों की सफाई के विषय में जानकारी दी|८-०५ को फिल्म समारोह निदेशालय ,सूचना प्रसारण मंत्रालय के अविनाश वाचस्पति ने प्रयास का संदर्शन किया,बच्चों के लिए हँसती दुनिया पत्रिका की प्रतियां दी और प्रयास के प्रयासों की खबर को नुक्कड़ पर डालकर जन –जन तक पहुंचाया|
ये तो कुछ बड़ी घटनाएं थी जो रेखांकित हो सकी|अनेक ऐसी ही घटनाएं प्रयास का अंग बन चुकी हैं| केन्द्रीय हिन्दी संस्थान के श्री लंका और त्रिनिदाद के छात्र न केवल बच्चों से मिले वरन उन्हें भरतनाट्यम के कुछ स्टेप सिखाने की कोशिश भी की|अप्रैल २९ से वार्षिक परीक्षाएं प्रारंभ हुई |छात्रों के कार्य का मूल्यांकन डा. अनुपम सारस्वत ने किया |एक हफ्ते में बच्चों ने गीत और नाटक का अभ्यास किया है,कुछ ही समय में वे आपके सामने प्रस्तुत होंगे|
सत्र भर जिन –जिन व्यक्तियों का पूर्ण सहयोग प्रयास को मिलता रहता है,उन सभी को धन्यवाद |
वार्षिक कार्यक्रम की रिपोर्ट जानने के लिए यहां पर क्लिक करके समाचार पर क्लिक कीजिए।
प्रस्तुति
प्रयास संयोजिका
बीना शर्मा

5 टिप्‍पणियां:

  1. 'प्रयास' के वार्षिकोत्सव 'हमने क्या सीखा' की रिपोर्ट पढ़ कर अभिभूत हूँ और गर्व अनुभव कर रही हूँ कि मैं इस अविस्मरणीय आयोजन की प्रत्यक्षदर्शी होने का सौभाग्य प्राप्त कर सकी ! कार्यक्रम की सफलता और संयोजन की जितनी प्रशंसा की जाए कम होगी ! मेरी अनंत शुभकामनायें एवं अभिनन्दन स्वीकार करें !

    उत्तर देंहटाएं
  2. प्रेरणाप्रद कार्य एवं सुन्दर प्रस्तुति-करण।

    उत्तर देंहटाएं
  3. "प्रयास" के इस प्रयास को मेरा नमन और हार्दिक शुभकामनाएं कि इसी तरह से अपने उद्देश्य में सफल रहे.

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्रयास डा वीणा जी के सन्कल्प का एक मूर्त रूप है. उनके उत्साह, समर्पण और प्रयास की जितनी सराहना हो कम है. बस यही सोच रहे है कि कैसे इस जबरदस्त प्रयास को हम अपनी तरफ़ से भी कुछ योगदान कर सके.

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz