आतंकवादी की नाक खतरे में : अभिव्‍यक्ति में खोल रहे हैं राज : हमारे आपके सबके अविनाश वाचस्‍पति जी


........... आम हालातों में शौहर अपनी बीबी से तभी दुखी होते हैं जब वे उनसे घर के कार्य करवाने लगती हैं और बरतन मांजने के लिए कड़ाके की ठंड में भी गरम पानी की व्यवस्था नहीं करतीं। निःसंदेह इस स्थिति को दुखद माना जा सकता है तो क्‍या आजकल लादेन ऐसी ही विकट परिस्थितियों के संकट से जूझ रहा है। शौहर से सिर्फ चाय बनवाने या खाना बनवाने जैसी घटनाएँ अब दुर्घटनाओं की श्रेणी में नहीं गिनी जाती हैं। ये तो अब पुरुषों की दैनिक चर्या का अंग बन चुकी हैं। लेकिन आतंकवादियों को तो अपनी जान के लाले पड़े रहते हैं उस पर ये कठिन कर्म निश्चय ही उनके जीवन में आतंक भर देती होंगी। हालात तब और वीभत्‍स हो उठे होंगे जब उन्‍हें अपने नवजात शिशुओं की गीली लंगोटियाँ भी साफ करने के लिए मजबूर कर दिया गया होगा। पता नहीं बेचारे आतंकवादी के साथ क्या गुजर रही है। यह सब तो पूरा पढ़ने के लिए क्लिक कीजिए

5 टिप्‍पणियां:

  1. नाक ही क्या यह तो पूरे के पूरे ही खतरे में हैं!

    उत्तर देंहटाएं
  2. जो खुश रहना चाहता है वह पाँच-पाँच बीवियां रखने की सोच भी कैसे सकता है? आजकल एक बीवी को संभालना भी आसान नहीं...

    बच के रहियेगा ...आपके घर के बाहर धरना प्रदर्शन होने ही वाले हैं ...:):)

    उत्तर देंहटाएं
  3. खूब हँसाया भाई जी..............
    हा हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz