लिखचीत पर अपनी प्रतिक्रिया लिखकर दीजिए (अविनाश वाचस्‍पति)

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels: ,
  • अंग्रेजी के चैट शब्‍द के लिए संभवत: 3 वर्ष से मैं लिखचीत शब्‍द का प्रयोग करता आ रहा हूं क्‍योंकि इंटरनेट पर की जाने वाली इस चीत में लिख कर विचारों का आदान-प्रदान होता है जबकि बोल कर की जाने वाली बातचीत होती है और उसे टॉक अंग्रेजी में कहते हैं।

    आपके इस संबंध में क्‍या विचार हैं, क्‍या अंग्रेजी के चैट शब्‍द के लिए लिखचीत का प्रयोग उचित प्रतीत होता है, यदि हां तो इसका व्‍यापक प्रयोग किया जा सकता है, यदि नहीं, तो जैसे चल रहा है धीमे-धीमे वैसे ही चलने दिया जा सकता है। आपके प्रतिक्रिया की अपेक्षा है।

    7 टिप्‍पणियां:

    1. बातचीत के तर्ज पर लिखचीत शब्द उचित ही लगता है.

      उत्तर देंहटाएं
    2. लिखचीत के इस्‍तेमाल में कोई हर्ज नहीं दिख रहा। लगातार इस्‍तेमाल से सहज भी लगने लगेगा।

      उत्तर देंहटाएं
    3. पहले 'चीत' का अर्थ बताइए फिर मैं अपनी 'बात' 'लिखूँगा'।

      उत्तर देंहटाएं
    4. हिन्दी मे chat ही रहे तो क्या बुराई है ?

      उत्तर देंहटाएं
    5. हिन्दी में तो सही है मगर अब आदत पड गयी है सबको चैट कहने की और छूट्नी आसान नही है।

      उत्तर देंहटाएं
    6. पहले आप ब्लॉग और ब्लॉगर की हिंदी बताएं , तब हम सोचेंगे । :)

      उत्तर देंहटाएं
    7. अविनाश जी अगर हिन्‍दी शब्‍द की ही बात करें तो 'चाट' ही केवल पर्याप्‍त है। हम आपस की बातचीत में कई बार कहते हैं क्‍यों चाट रहे हो। या कि अमुक चाट गया । याकि अमुक आ गया है अब यह बेवजह चाटेगा। तो अगर नया शब्‍द लाना है तो चाट ही अच्‍छा है। वरना चैट ही ठीक है। यह भी सही है कि आप ब्‍लाग के लिए चिट्ठा इस्‍तेमाल करते रहे हैं,पर वह उतना प्रचलन में नहीं आया। शायद कारण यह भी है कि ब्‍लाग या चैट इतने छोटे शब्‍द हैं कि तुरंत जबान पर चढ़ जाते हैं।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz