नमस्‍कार नहीं, आइये सत्कार करें चमत्‍कारकों का (अविनाश वाचस्‍पति)

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:
  • आप सोच रहे होंगे
    कि आज अविनाश को
    यह क्‍या हो गया है
    करता तो है रोज ही नमस्‍कार
    आज पोस्‍ट ही लगा दी
    नमस्‍कार नहीं करें सत्‍कार।

    पर मैं कह रहा हूं
    नमस्‍कार करें
    पर चमत्‍कारकों को न करें
    चमत्‍कार जो कर रहे हैं
    हमारे भारतीय नौजवान
    भारतीय नौजवान चमत्‍कार ही करते हैं
    पिछली एक पोस्‍ट
    करंट को बेकरंट बनाएं
    में भी चमत्‍कार देखा आपने।

    अब देखिए हार्ड डिस्‍क के क्षेत्र
    में गाड़ दिया है झंडा
    यह भी है भारत का बंदा
    नाम है जिसका आर शिवरामन
    नैनो टेक्‍नालॉजी का करके इस्‍तेमाल
    हार्ड डिस्‍क बनाई है 30 हजार जी बी की।

    तो मैं कह रहा हूं
    इन चमत्‍कारों को मत कीजिए नमस्‍कार
    और भारत सरकार भी न करे
    जो वो नमस्‍कार कर रही है
    इन चमत्‍कारकों का करे सत्‍कार
    उन्‍हें जाने न दे बाहर अगर
    तो जो सत्‍कार होगा, वह सच्‍चा होगा
    भारतवर्ष के लिए नि:संदेह अच्‍छा होगा।

    उन्‍हें सीगेट ने ऑफर किया है
    1.4 करोड़ की सालाना नौकरी का।

    भारत ने किया जैसा नमस्‍कार
    क्‍या आपको पसंद आया और
    क्‍या यह नमस्‍कार अच्‍छा है ?

    जानता सच इसके बारे में
    भारत का बच्‍चा बच्‍चा है
    पर अब बचा ही क्‍या है ?
    संभावनाओं का आकाश बहुत बड़ा है।
    विस्‍फोट से साभार

    7 टिप्‍पणियां:

    1. बहुत सुंदर जानकरी दी आप ने बातो बातो मै, भारत सरकार इन प्रतिभा शाली लोगो को प्रोतसाहन क्यो नही देती,
      धन्यवाद

      उत्तर देंहटाएं
    2. हमारे वैज्ञानिक हर जगह प्रगति का झंडा फहरा रहे हैं अविनाश भाई ! आज तो आपने इस बात पर खुश हो कर कविता ही रच दी !

      उत्तर देंहटाएं
    3. अविनाश जी हम भारत वासी तो चमत्कार को नमस्कार करते हैं

      उत्तर देंहटाएं
    4. अविनाश जी,ऐसी सूचनाएं प्रेरणा बनती हैं और समाज आगे बढ़ता है.हम समाज में जिसका सत्कार करते हैं वाही प्रवृत्ति बढ़ती है.हमारे यहाँ ढोंग और घटिया आस्थाओं का प्रचार इतना अधिक होता है कि महानताएं दब जाती हैं इस दृष्टि से आप को बधाई.

      उत्तर देंहटाएं
    5. सबसे पहले तो शिवरामन को यह नौकरी पकड़ लेनी चाहिये...बाकी सब बाद में देखा जाएगा.

      उत्तर देंहटाएं
    6. आपकी टिप्पणी के लिए आपका आभार....बेहद सही बात लिखी हैं आपने....जानते हम सभी हैं....पर शायद उतने अच्छे से नही जैसे कि आपने कविता का रूप देकर बता दिया....
      जो आपने समझा और बताया...अब सरकार को समझने कि जरुरत हैं....इन अविष्कारों को नमस्कार किया जाये या नहीं...पर सच में सत्कार किया जाना हमारे देश के बेहद हितकर रहेगा..!!!
      ---डिम्पल

      उत्तर देंहटाएं
    7. चमत्कार आविष्कार को नमस्कार .

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz