दिल्‍ली ब्‍लॉगर मिलन - कोई बहाना नहीं चलेगा - दिल्‍ली वालों अवश्‍य पहुंचियेगा - दिल्‍ली वालों के दिल का मामला है (अविनाश वाचस्‍पति)

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:

  • दिल्‍ली में ब्‍लॉगर मिलन
    रविवार 7 फरवरी टवेंटी टैन को है
    Day :- The 7th Day of Febrauary(sunday)2010
    Time:- 11 a.m. to 4.oo p.m.
    Place :- GGS FAST FOOD AND BANQUET
    PLOT NO. 14, LAKSHMI NAGAR
    DISTRICT CENTRE
    DELHI -110092
    PH:- 011-42448800

    ब्‍लॉगर मिलन अवश्‍य होगा
    सब मिलेंगे सबसे
    इंतजार कर रहे हैं कब से
    पिछली बार 15 नवम्‍बर 2009 को मिले थे
    तब मैं नहीं मिल पाया
    मैं हवा में था
    आप सब जमीन पर थे।

    इस बार मैं भी जमीन पर हूं
    देखिये कोई बहाना नहीं चलेगा
    कि सनडे है
    बहुत तेज सन चमक रहा है
    गर्मी बहुत तेज है
    या ठंड है
    पर ठंड को पड़ गई है ठंड।

    विश्‍व पुस्‍तक मेला आज समापन होना है
    जिसने समापन होना है
    वो तो आपके बिना भी हो जायेगा
    पर यहां पर वो बहाना काम नहीं आयेगा।

    मैं तो भूल ही गया था
    क्‍योंकि सनडे है और
    सनडे को मैं देर तक सोता हूं
    मुझे याद ही नहीं रहा
    मैंने कंप्‍यूटर ही नहीं खोला था
    मुझे आज भी आफिस में काम है
    मुझे एक शादी में जाना है
    पत्‍नी ने परमीशन नहीं दी है
    मतलब कोई बहाना नहीं बनाना है
    ब्‍लॉगर मिलन में जरूर आना है।

    काजल जी कर रहे हैं दूर से ही
    बल्‍ले बल्‍ले
    दिल्‍ली में हैं तो दिल दिखलायें
    हम सबका दिल तो न दुखायें
    7 फरवरी 2010 को
    कोई बहाना नहीं बनायें
    कोई बहाना नहीं चलेगा।

    यह भी मत कहिएगा कि
    मेल नहीं देखी थी
    लाईट नहीं थी
    कंप्‍यूटर खराब हो गया था
    हैंग हो गया था
    या रात को ज्‍यादा पीली थी
    हैंग हो गया था।

    यह भी बहाना नहीं चलेगा
    कि बस कौन सी जाती है वहां पर
    यह नहीं मालूम था
    आटो वाला चलने के लिए तैयार नहीं हुआ

    हमारे यहां पर तो बारिश हो रही थी
    मेट्रो की वजह से यातायात जाम था
    मैं घर से तो चला था
    पर बाद में पता चला
    पर्स/मोबाइल घर पर ही छूट गया
    इसलिए मैं वापिस लौट गया।

    आपने कोई पेमेंट थोड़े ही करनी है
    मोबाइल मेरा इस्‍तेमाल कर लेना
    पर बहाना मत बनाना
    क्‍योंकि कोई बहाना नहीं चलेगा
    आपको आना ही पड़ेगा
    जब इतने दिल से
    इतने दिन से
    बुला रहे हैं
    फिर भी आप बहाना बना रहे हैं।

    अगर आप ब्‍लॉगर सच्‍चे हैं
    कंप्‍यूटर के खटरागी नहीं है
    खटराग करने से नहीं बचे हैं
    इसलिए आना ही होगा
    बहाना नहीं बनाना
    बहाना नहीं चलेगा।

    जिसने बहाना बनाया
    उसको खूब सारी टिप्‍पणियां दी जायेंगी
    उसकी पसंद भी सबसे ज्‍यादा चटकाई जायेंगी
    मतलब आप बहाना बनायेंगे, नहीं आयेंगे
    तो आपको कल वहीं पर पुरस्‍कृत किया जायेगा
    पुरस्‍कृत होने तो आना ही होगा
    पुरस्‍कार आपका आपको ही मिलेगा।

    पोस्‍ट लगा रहा था
    टिप्‍पणी दे रहा था
    पसंद चटका रहा था
    नापसंद चटका रहा था
    ये तो रोज की बातें हैं
    आओ रविवार को
    कर लेते मुलाकातें हैं।

    सूची देखिये इसमें बहुत सारे नाम अभी तक नहीं जुड़े हैं।
    तो बस जगह आप सबने नोट कर ही ली है , अच्छा अच्छा आप सोच रहे हैं कि कौन कौन पहुंच रहे हैं झाजी ने बताया ही नहीं

    श्री राज भाटिया जी
    श्री अविनाश वाचस्पति जी ,
    डा. टी एस दराल जी ,
    श्री खुशदीप सहगल जी ,
    श्री महफ़ूज़ अली जी ,
    श्री तारकेशवर गिरि जी ,
    श्री सतीश सक्सेना जी ,
    श्री नीरज जाट जी ,
    श्री लिमटी खरे जी ,
    श्री विनीत कुमार जी ,
    श्री राजीव तनेजा जी,
    श्रीमती संजू तनेजा जी ,
    श्री मिथिलेश दूबे ,
    श्री विनीत उत्पल जी,
    श्री नीशू तिवारी,
    श्री प्रवीण पथिक जी ,
    श्री मोईन शम्सी जी ,
    श्री एम वर्मा जी ,
    श्री यशवंत जी ,
    श्री पवन कुमार जी ,
    श्री सत्येन्द्र कुमार जी ,
    श्री धीरू सिंह जी ,
    पं वत्स जी ,
    इस सूची में जुड़ते जाइये।


    नाक मत कटवाइयेगा
    बाहर से सब आ रहे हैं
    आप भी अवश्‍य आइयेगा।

    19 टिप्‍पणियां:

    1. इस में बीएस पाबला जी का नाम गायब कैसे?

      उत्तर देंहटाएं
    2. bahut bahut swagat raaj ji ka

      aayojan ki safalta ke liye shubh kaamnaayen

      main bhi aane ka ichhuk hoon lekin kal aur ek zaroori farz ada karna hai isliye mujhe any jagah jaanaa hai

      badhaai ! dilli walo badhaai !

      उत्तर देंहटाएं
    3. bhi aana chahti thi ,ye to ja rahe hain par sirf raj bhatiya ji se milne ,agar aap pahchan kar mil lenge to meri naak rah jayegi

      उत्तर देंहटाएं
    4. जरूर मिलेंगे

      आपकी नाक

      मेरी नाक

      दिल्‍ली वालों की नाक।

      उत्तर देंहटाएं
    5. कविता वाचक्‍नवी जी भी पहुंच रही हैं
      पहुंच रहे हैं आलोक कुमार सिंह भी।

      उत्तर देंहटाएं
    6. @ नारदमुनि

      आपसे ब्‍लॉगर मिलन में मिलना
      मेरा तो सदा से ही रहा है सपना

      उत्तर देंहटाएं
    7. pulse polio day ka bahana chalega?jabki ye bahana nahi hai....shubhkaamnaen...

      उत्तर देंहटाएं
    8. कविता वाचक्‍नवी जी भी पहुंच रही है

      आलोक कुमार सिंह भी पहुंच रहे हैं

      उत्तर देंहटाएं
    9. अनुराग अन्‍वेषी जी और प्रतिभा कुशवाहा जी भी पहुंच रहे हैं।

      उत्तर देंहटाएं
    10. उमेश पंत नई सोच अवश्‍य पहुंचें

      उत्तर देंहटाएं
    11. @ शेफाली पांडेय


      बहाना नहीं सच्‍चाई

      और

      हम सच्‍चाई की कद्र करते हैं।

      उत्तर देंहटाएं
    12. मिलन सुखद हो।
      राज जी का हार्दिक स्वागत है।
      काश दिल्ली में होता।

      उत्तर देंहटाएं
    13. सुन्दर मुलाकात के लिये मंगलकामनायें!

      उत्तर देंहटाएं
    14. अविनाश जी,
      हम भी देर से पहुंचेंगे.
      लेकिन पहुंचेंगे जरूर.

      उत्तर देंहटाएं
    15. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

      उत्तर देंहटाएं
    16. दिल्ली दूर है
      लेकिन दिल के पास है .
      आयोजन को मिले सफलता का शिखर
      कविता जी को जन्मदिन की बधाई असीम .

      उत्तर देंहटाएं
    17. प्रिय अविनाश जी,बहुत इच्छा के वाबजूद नहीं आ सका.इसका अफ़सोस रहेगा .हमारे जो मित्र लोग ब्लाग के माध्यम से हिंदी और हिंदी के साहित्य को देश विदेश में प्रचारित कर रहे हैं वे निश्चित रूप से बधाई के पात्र हैं.आप इस काम को पूरी लगन से कर रहें हैं,इस लिए विशेष बधाई के हक़ दार हैं.
      कविता वाचकनवी को सबसे पहले उनके जन्म दिन की हार्दिक बधाई.अक्षरम से मिले पुरस्कार के लिए और भी बधाई.

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz