दिल्‍ली हिन्‍दी ब्‍लॉगर मिलन : तुम साला मत रहो बस यही दुआ करता हूं (अविनाश वाचस्‍पति)

दिल्‍ली हिन्‍दी ब्‍लॉगर मिलन में कैमरे में कैद किए गए सभी जीवंत पलों को मेरी अथवा अजय कुमार झा जी की ई मेल पर भेजने के लिए विशेष अनुरोध है


चुटकुला आपने भी सुना होगा
हंसी का फौहारा भी बुना होगा


तुम सलामत रहे यही दुआ करता हूं
बंगाली बोलते हैं तो समझ में यही आता है
तुम साला मत रहे यही दुआ करता हूं
सच्‍चाई यही है हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग सही है
तुम सलामत रहो बस यही दुआ करता हूं


इसी सलामती और मन की प्रसन्‍नता के साथ लीजिए मन आनंद खुशहाली का नीचे दिए गए लिंक पर करके क्लिक

यशवंत मेहता

युग क्रांति जल्‍द ही नया रूप दिखलायेगा
हिन्‍दी में ब्‍लॉग क्रांति की मशाल जगमगायेगा।

यह हाथ किसका है

आइये पहचानना शुरू करें
भूलें न किसी को भी
इस तरह से जानना शुरू करें।

चौखट पवन चंदन

आंख में ऊंगली नाक में तिनका मत कर
लेकिन प्‍यारे पोस्‍ट पर टिप्‍पणी जरूर कर।

पिताजी

चित्र देखिये ताजी
सभी हैं राजी
मिथिलेश दुबे भी
नहीं बची कोई नाराजी।

6 टिप्‍पणियां:

  1. भाई कल क्या इतना व्यस्त हो गये थे इस समारोह में कि फोन ही न उठाया

    उत्तर देंहटाएं
  2. @ डॉ. रूपेश श्रीवास्‍तव


    फोन तो हाथों में ही उठाए हुए था। या तो बात हो रही होगी। या गाड़ी चला रहा होऊंगा। ऐसा तो सोचिए भी मत कि फोन या काल उठाऊंगा नहीं। मिस काल भी (मतलब जो छूट गई हो) नजर आएगी तो वापिस मिलाने का पूरा प्रयास रहता है। फिर भी खता हुई है तो सजा के हकदार हैं हम।

    @ अलबेला खत्री


    बधाई के हकदार तो इंटरनेटीय जगत के सभी ब्‍लॉगर्स हैं इसके लिए।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बहुत बधाई अफ्सोस इस बात का कि मैं ना आ पाई आभार्

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz