उम्‍मेद सिंह साधक पहुंचने वाले हैं चैन्‍नै, विवेक रस्‍तोगी जी तो पहले ही वहां मौजूद हैं

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:
  • विवेक रस्‍तोगी जी
    कल्‍पतरू लेकर
    चैन्‍नै में पहले से
    मौजूद हैं

    पी डी वहां पर
    हैं ही

    साधक जी भी
    पहुंच रहे हैं
    अब ब्‍लॉगर मिलन
    साधना साध ली जाये।

    जो जो तकनीक नहीं जानता
    उसे वो तकनीक सिखाई जाये
    यूं ही मिल कर
    पल पल हर पल
    न गंवाया जाये।

    जैसे साधक जी जानना चाहते हैं
    लिंक कैसे बनाया जाता है
    पोस्‍ट में चित्र कैसे लगाया जाता है
    स्‍नैप शॉट कैसे लिया जाता है

    और भी वो सब कुछ
    जो वे नहीं जानते हैं
    वे बदले में कविता रचना
    सिखलायेंगे जो सीख जायेंगे
    वे कवि हो जायेंगे।

    चैन्नै के लिये यात्रा आज शाम ४ बजे से.... कल प्रातः ७ बजे पहुँचूंगा...........



    इसका अर्थ ये हुआ कि
    लगभग 11 घंटे शेष हैं
    साधक जी के चैन्‍नै पहुंचने में
    उनका मोबाइल नंबर है
    09903094508

    बाद में मैं ही नहीं
    सब जानना चाहेंगे
    कि किसने क्‍या सीखा
    किसने क्‍या सिखाया

    स्‍नैपशॉट बेस्‍ट जानकारी
    तैयार हो जिनके पास
    ब्‍लॉगजनहिताय
    सार्वजनिक कर सकते हैं
    प्रतीक्षा रहेगी ...

    8 टिप्‍पणियां:

    1. अजी हमें भी आप की रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार रहेगा, स्नेपशॉट तो हमें भी सिखाइए

      उत्तर देंहटाएं
    2. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाऎं

      उत्तर देंहटाएं
    3. जब चेन्नई से बाहर के लोग चेन्नई पधार रहे थे तब चेन्नई का यह बंदा चेन्नई से 16 घंटे की दूरी पर एक हिल स्टेशन पर घूम रहा था.. अभी तो दोनो ही चेन्नई में ही हैं, देखिये मुलाकात किये बिना जाने ना दूंगा किसी को.. :)

      उत्तर देंहटाएं
    4. @ PD

      कविता वाचक्‍नवी जी से जो हुई है आपकी मुलाकात उसका विवरण तो दीजिए आज।

      उत्तर देंहटाएं
    5. मेरी उनसे मुलाकात दिल्‍ली में हुई थी उसका विवरण पहले लीजिए http://avinashvachaspati.blogspot.com/2010/01/blog-post_24.html

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz