शिखा जी की "स्मृतियों में रूस"

Posted on
  • by
  • शिवम् मिश्रा
  • in
  • Labels: ,
  • किसी भी इंसान के लिए सब से कीमती चीज़ क्या होती है ... ???

     अब यह सवाल ऐसा है जिस के कि बहुत से अलग अलग जवाब हो सकते है क्यों कि हर बन्दे के हिसाब से ही उसकी सब से कीमती चीज़ तै की जा सकती है ... पर फिर भी एक जवाब ऐसा है जिस पर लगभग सारे ही लोग सहमत होंगे ... और वह है ... इंसान की सब की कीमती चीज़ उसकी यादें होती है !!

    यादें या स्मृतियाँ जो चाहे कह लीजिये ... हमेशा ही आपको एक अलग ही दुनियां की सैर करवाती हैं ... 

    अब एक ऐसी ही सैर का निमंत्रण दे रही हैं शिखा जी आप सब को ... अपनी नयी पुस्तक ... "स्मृतियों में रूस" के माध्यम से ...

     
    Diamond Publication द्वारा छापी गयी इस पुस्तक का मूल्य है मात्र ३०० रुपये ... आप इस पुस्तक को घर बैठे बैठे ही मंगवा सकते है ऑनलाइन अपना आर्डर दे कर ...

    तो फिर इंतज़ार किस बात का ... इस ठंडी ठंडी ठण्ड में गरमा गरम चाय के साथ चले इस सैर को ...

    14 टिप्‍पणियां:

    1. shikha ko bahut bahut badhai... ek behtareen yaad ko pustak me shakal dene ke liye:))

      उत्तर देंहटाएं
    2. मेरी प्रति तो डाक में है . आज कल में आती ही होगी .

      उत्तर देंहटाएं
    3. शिखा जी को हार्दिक बधाई।

      उत्तर देंहटाएं
    4. मेरी किताब कहा है शिखा जी जल्द से जल्द भेजने का कष्ट करें और बहुत बहुत शुभकामनाएं...

      उत्तर देंहटाएं
    5. शिखा जी को बहुत बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएँ..

      उत्तर देंहटाएं
    6. हम तो यादें मुफ्त में बाँट रहे हैं । :)
      लेकिन पुस्तक प्रकाशन के लिए शिखा जी को बधाई ।

      उत्तर देंहटाएं
    7. बधाई....बहुत-बहुत बधाई. डायमंड वालों से मैं पुस्तक मंगवा लूंगा. वे पुस्तक की कीमत मेरी रायल्टी से काट ही लेंगे. शिखा धीरे-धीरे और चमकदार-प्रकाशवान हो रही है..शुभकामनाये...

      उत्तर देंहटाएं
    8. आप सभी का तहे दिल से आभार.

      उत्तर देंहटाएं
    9. शिखा जी को ढेर सारी बधाइयां।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz