और नाम के पीछे इन किन्नरों ने लगा लिया हजारे

Posted on
  • by
  • Anil Attri
  • in





  • और नाम के पीछे इन किन्नरों ने लगा लिया हजारे...................


    पूरा देश अन्ना के समर्थन में उमड़ पडा है ..भ्रष्टाचार के शीकार करोड़ों लोग एक हो गये और हिल गई सरकार ...वो भी गांधीवादी तरीके से ..इस आन्दोलन में क्या बुड्डे , क्या बड़े , क्या बच्चे , क्या नौजवान , महिलाये यहाँ तक दूध मुहें बच्चे भी अन्ना अन्ना कर रहे है ..इसी बीच हर तबका आन्दोलन से जुड़ रहा है ...सरकारी कर्मचारी हो या प्राइवेट सभी सडकों पर अना के समर्थन में आकर जनलोकपाल बिल कि मांग कर रहे है ...ऐसे में देश के किन्नर लोग भी खुलकर अन्ना के समर्थन में आये और घोषणा कर दी कि सारे देश से किन्नर भी शुक्रवार से दिल्ली के रामलीला ग्राउंड में पहुंचेगें और सरकार का विरोध करेगें ... वीरवार शाम दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम पर किन्नर लोग भी विरोध जताने पहुंचे ..हाथों में तख्ती जुबान पर लोकपाल के लिए नारे ...और नाम के पीछे इन किन्नरों ने लगा लिया हजारे ..देखिये अपनी बाईट में मनीषा अपना नाम मनीषा न बताकर मनीषा हजारे बता रही है ..
    किन्नरों के नाच गाने में आज छत्रसाल स्टेडियम में वन्दे मातरम के व अन्ना हजारे के नारे गूंजे ...अन्ना पर लगाये गये शुरुवाती झूठे आरोपों से भी किन्नर तबका काफी नाराज है ..हम किन्नर तिहाड़ भी जायेगें ...इन्होने स्टेडियम के नारे लगाते हुए चक्कर भी लगाये ..वहां मौजूद लोगों में भी उत्साह बढ़ा और शाम के वक्त पूरा मोडल टाउन एक बार फिर वन्दे मातरम , अन्ना हजारे के नारों से गूंज उठा ,,
    बाईट - मनीषा हजारे (All India Kinner एसोशियेशन मेम्बर ) टेक्स्ट - हम मरते दम तक लड़ेगें ..हम सब अन्ना के साथ है ..हम कल रामलीला ग्राउंड पहुंचेगें ..
    शान्ति ( आंदोलनकारी किन्नर ) मरते दम तक हम साथ है ..
    वी ओ फाइनल - अब तो सरकार को चेतना ही होगा ..हर तबका अब अन्ना अन्ना पुकार रहा है ..वीरवार को ये दिल्ली से किन्नर लोग आये है और शुक्रवार से पूरे भारत से किन्नर दिल्ली पहुंच रहे है .....और अपने गीतों में ये अन्ना अन्ना गा रहे है अब ये दुसरे गीतों कि बजाय अन्ना के गीत व वन्दे मातरम , इन्कलाब जिंदाबाद गा रहे है ...
    अनिल अत्री दिल्ली ...............


    1 टिप्पणी:

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz