हिन्‍दी ब्‍लॉगर भी ध्‍यान दें : सबके लिए उपयोगी है, पांच लाख तक रिटर्न न दाखिल करने के पेंच


नियम बनते हैं यम
यदि ठीक से न समझे जाएं
और काबू में आते हैं हम
चाहे कितने ही होशियार कहलाएं

इस लेख को इमेज पर
करके क्लिक अवश्‍य पढ़ लें
और उपाय सिद्ध करें
शुभ लाभ के।

सबको बतलाएं
इस लिंक को
उन तक भी पहुंचाएं
जिनका आप चाहते हैं भला
वे भारत में हैं
तो सबका होना चाहिए
भारत भला।

जी हां , रविवार 17 जुलाई 2011 को दैनिक हिन्‍दुस्‍तान के बचत पन्‍ने पर प्रकाशित श्री विनय कुमार मिश्र के लेख पांच लाख तक रिटर्न न दाखिल करने के पेंच खोले गए हैं। आप भी देखिए कितने पेंच हैं और अपनी रिटर्न अवश्‍य भरिएगा।  नहीं तो नुकसान की जगह होगा फायदा। अर्र ......... र्र .......... र्र ................. फायदे की जगह नुकसान। पहचान लीजिए जो बतला रहे हैं विनय कुमार जी।

जन जन  और ब्‍लॉगहित में दैनिक हिन्‍दुस्‍तान से साभार।

1 टिप्पणी:

  1. उपयोगी जानकारी। वैसे हमारी तो कोई एफडी है नहीं, न ही बचत खाते में इतना पैसा कि सालाना दस हजार ब्‍याज बने। पर सभी के पढ़ने योग्‍य जानकारी है यह, इसे प्रकाशित करने के लिए धन्‍यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz