मीडिया पर केंद्रित रचना क्रम का अगला अंक, रचनाएं आमंत्रित

Posted on
  • by
  • पुष्कर पुष्प
  • in
  • मीडिया पर केंद्रित रचना क्रम का अगला अंक, रचनाएं आमंत्रित: "हिंदी की साहित्यिक पत्रिका रचना क्रम के यूं तो अभी दो ही अंक प्रकाशित हुए हैं। लेकिन इन्हीं दो अंकों के जरिए साहित्यिक पाठकों के बीच रचनाक्रम ने जो उपस्थिति बनाई है, साहित्य की विदाई के कथित दौर में संतोष का विषय है। पाठकों का रचनाक्रम को जो सहयोग मिल रहा है, वह रचनाक्रम के प्रकाशक और संपादक अशोक मिश्र की रचनाधर्मिता और संपादकीय दृष्टि को बेहतर बनाने एवं पत्रिका साहित्यिक तौर पर पाठकोपयोगी बनाने में मदद देगा।

    - Sent using Google Toolbar"

    4 टिप्‍पणियां:

    1. ये कौन सी पत्रिका है, मैंने तो कभी इसका नाम नहीं सुना

      उत्तर देंहटाएं
    2. किसी को कहो कि सामने खड़ा होकर बोल दे, फिर नहीं कह सकोगे कि सुना नहीं, सिर्फ पढ़ा है काजल भाई।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz