फ़िरदौस ख़ान को पितृ शोक : नुक्‍कड़ परिवार की विनम्र श्रद्धांजलि

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels: , ,
  • http://firdaus-firdaus.blogspot.com/
    गहन शोक संतप्त मन से यह जानकारी दे रहा हूँ कि अभी-अभी फ़िरदौस ख़ान जी का मेल संदेश प्राप्‍त हुआ है कि 11 अप्रैल को उनके अब्बू का इंतक़ाल हो गया...। फ़िरदौस जी का मेरी डायरी नाम से बेहद चर्चित ब्‍लॉग है। वे अपने लेखों और रचनाओं के लिए अलग से पहचानी जाती हैं। नुक्‍कड़ परिवार इस दुख की घड़ी में उनके साथ है और उनके अब्बू की मग़फ़िरत  के लिए दुआ की दरख्वास्त करता है.. । 

    22 टिप्‍पणियां:

    1. इश्वर उनकी आत्मा को शांति दें!

      उत्तर देंहटाएं
    2. इस दुख की घड़ी में उनके हम आपके साथ हैं और आपके अब्बू की मग़फ़िरत के लिए दुआ की दरख्वास्त करते हैं.. ।

      उत्तर देंहटाएं
    3. इश्वर उनकी आत्मा को शांति दें!

      उत्तर देंहटाएं
    4. इश्वर उनकी आत्मा को शांति दें|

      उत्तर देंहटाएं
    5. पिता का जाना मानो घने, विशाल वट वृक्ष का साया सर से उठ जाना। मेरी हार्दिक सम्‍वेदनाऍं।

      उत्तर देंहटाएं
    6. अल्लाह उन्हें बख़्शे और फ़िरदौस ख़ान को हिदायत दे और अपना फ़रमाँबरदार बनाए ।

      उत्तर देंहटाएं
    7. विनम्र श्रद्धांजलि !
      ईश्वर पुण्यात्मा को शांति दे और शोक संतप्त परिवार को दुःख सहने की क्षमता !

      उत्तर देंहटाएं
    8. यही कामना है कि परिवार को यह दुख सहने की शक्ति मिले..विनम्र श्रद्धांजलि

      उत्तर देंहटाएं
    9. bhn firdaus ke gm me sahbhagi hoon
      eeshwr divngt aatma ko shanti den

      उत्तर देंहटाएं
    10. ishwar unhe shanti pradan kare.

      ब्लॉगजगत में पहली बार एक ऐसा "साझा मंच" जो हिन्दुओ को निष्ठापूर्वक अपने धर्म को पालन करने की प्रेरणा देता है. बाबर और लादेन के समर्थक मुसलमानों का बहिष्कार करता है, धर्मनिरपेक्ष {कायर } हिन्दुओ के अन्दर मर चुके हिंदुत्व को आवाज़ देकर जगाना चाहता है. जो भगवान राम का आदर्श मानता है तो श्री कृष्ण का सुदर्शन चक्र भी उठा सकता है.
      इस ब्लॉग के लेखक बनने के लिए. हमें इ-मेल करें.
      हमारा पता है.... hindukiawaz@gmail.com
      समय मिले तो इस ब्लॉग को देखकर अपने विचार अवश्य दे

      देशभक्त हिन्दू ब्लोगरो का पहला साझा मंच - हल्ला बोल

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz