हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग एक नई खोज : खोजाराम जी के ब्‍लॉग से : आइए हंसते ही रहें जब तक सामने वाले रो न पड़ें


हसंते रहो
हंसते रहो
हंसते रहो
इतना हंसो
खूब हंसों
तब तक हंसों
जब तक हंसों

सामने वाला रोने न लग जाए
अपना मुंह दूध से धोने लग जाए
तो ऐसा ही हो रहा है फेसबुक पर
फेस साफ किया जा रहा है
दूध से
ताकि इतिहास का बन सकें हिस्‍सा
कितना रोचक है किस्‍सा
पर उससे रोचक हैं चित्र
सोचिए सोचिए सोचिए
किसके हैं चित्र
चित्र उन्‍हीं के हैं
जिन्‍होंने दिए हैं पैसे
मतलब रुपये

आप देंगे तो
आपका फेस भी इनके बीच में धर देंगे
पैसे न दिए हों तो
मत खोजें
सिर्फ दिमाग खुजलाएं
शायद पोस्‍टों की तरह
एक दो तीन जुंए पकड़ में आएं

फिर शैम्‍पू लें और
लें गर्म पानी
खौलते गर्म पानी से नहाएं
जुंए तड़प कर मर जाएंगी
(स्‍वयंभू नामचीन ब्‍लॉगरों को सतर्क किया जाता है कि इस प्रक्रिया को अपने जोखिम पर भी न अपनाएं क्‍योंकि आजकल जुंए आधुनिक तकनीक से युक्‍त हैं, वे आपको गच्‍चा देकर सरक जाएंगी और आप अपना सिर जो पहले से ही गर्म है, उसे जला बैठेंगे।
इसे कतई मजाक न समझें यह एक गंभीर पोस्‍ट है।
चित्र ऊपर देख लिया है
बाकी के चित्र और प्रतिक्रिया पढ़ने के लिए क्लिक करें।

4 टिप्‍पणियां:

  1. (स्‍वयंभू नामचीन ब्‍लॉगरों को सतर्क किया जाता है कि इस प्रक्रिया को अपने जोखिम पर भी न अपनाएं क्‍योंकि आजकल जुंए आधुनिक तकनीक से युक्‍त हैं, वे आपको गच्‍चा देकर सरक जाएंगी और आप अपना सिर जो पहले से ही गर्म है, उसे जला बैठेंगे।

    चित्र में कुछ लोगों के मुँह काले क्यों कर दिए गए हैं ?

    उत्तर देंहटाएं
  2. पद्म भाई इसमें चित्रमेकर का कोई रोल नहीं है
    बस मन का रंग चेहरे पर आ दमक रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. इसमें मेरी फ़ोटो कहाँ है भाई, मैं भी तो नामचीन ब्लॉगर हूँ और रहता भी चीन में हूँ। ही ही।

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz