जिसकी मुच्छ नहीं…उसका कुच्छ नहीं…बनाम ललित शर्मा- राजीव तनेजा

Posted on
  • by
  • राजीव तनेजा
  • in
  • Labels: , ,
  • सेवा में,

    हे प्रभु…हे पालनहार…हे कुल देवता…

    टैल मी ओ खुदा ये कैसी अंधेरगर्दी है?…ये कैसा चौसर खेलने वाला चौपट राजा है?…बरसों तक क्या हम एक ही उदहारण को ढोते चले जाएंगे?…कभी खुद को अपडेट नहीं करेंगे?..

    “मूछें हों तो नत्थूलाल जैसी”…

    अरे!…कैसा नत्थूलाल और कैसी उसकी मूछें?…ना रहा अब नत्थूलाल और ना रही अब उस जैसी मूछें…फिर क्यों हम इस बेमन की विरासत को ढोते चले जा रहे हैं? और कब तक ढोते चले जाएंगे?…

    आप ही का दिया फोर्मुला है कि….वक्त के साथ हर चीज़ को बदलना पड़ता है…प्रजा को भी और बादशाह को भी …यहाँ तक कि हम और आप भी इस बदलाव से अछूते नहीं हैं…पहले आपके दरबार में मैं सवा रुपया चढ़ाया करता था और आप खुश हो जाया करते थे…अब इक्यावन से भी आपका पेट नहीं भरता है…भरना तो दूर आपकी दाढ़ तक गीली नहीं होती है इससे…वक्त और ज़रूरत के साथ हम बदले तो तुम भी बदल गए…पहले राम-कृष्ण का…ज़माना था…उसके बाद पैगम्बर और क्राईस्ट भी आए हमारे देश में लेकिन ये नत्थूलाल वहीँ का वहीँ अटका पड़ा है…आखिर क्यों?…क्यों हम इस बेमन की विरासत को बरसों से सदियों तक ढोते रहे?…

    आज हमारे पास एक से बढकर एक युवा आईकोन हैं…हमें उनका अनुसरण आम जनता के सामने एक मिसाल रखनी चाहिए…

    क्यों?…है कि नहीं?…

    lalit-sharma[8]

    मैं आपसे पूछता हूँ जनाब आपसे…आपसे और आपसे कि जब हमारे पास यहीं भारत में ही ब्लॉग तकनीकों से लैस ‘ललित शर्मा’ जैसे धुरंदर टाईप के युवा आईकोन हैं तो फिर मूछों के मामले में हम पुराने ढर्रे पे चलते हुए पुरानों का अनुकरण क्यों करें?…आखिर क्यों?…क्यों?…क्यों?…

    संयोग से आज अपने ‘ललित शर्मा’ जी का जन्मदिन भी है…इसलिए हे!…प्रभु..हे!…पालनहार…ललित शर्मा जी को सम्मानित करने के लिए आज से बढ़िया दिन भला और कौन सा होगा?…आज ही के दिन उन्होंने इस धरती पर पदार्पण किया..इसलिए…मेरी आपसे ये करबद्ध प्रार्थना है कि आज के दिन को ‘मूँछ दिवस’ या फिर ‘मुच्छ दिवस' के रूप में घोषित कर इसे राष्ट्रीय पर्व का दर्जा दिया जाए…क्योंकि …

    जिसकी मुच्छ नहीं…उसका कुच्छ नहीं…

    जिसका कुच्छ नहीं…उसकी पुच्छ नहीं …

    उससे बढ़कर इस जहाँ कोई तुच्छ नहीं ..

    ना मिलता उसको कभी पुष्प गुच्छ नहीं

    धन्यवाद

    विनीत:

    सदा से आपका

    राजीव तनेजा

    rajivtaneja2004@gmail.com

    http://hansteraho.com

    +919810821361

    +919213766753

    +919136159706

    8 टिप्‍पणियां:

    1. Janm Din ki shubh kaamnaayen.... sachi hai...

      Mucchh nahi to kuchh nahi :)

      उत्तर देंहटाएं
    2. tnejaa bhaai thik chunaa hmare kotaa men pres klb ke adhyksh dhiraj tej ki bhi munchhe hen or un pr aek ge ke shoqin fidaa ho gye hen voh bechare apni izzt bchate fir rahe hen khudaa bhaia lalit ji ko nzr se bchaaye . akhtar khan akela kota rajsthan

      उत्तर देंहटाएं
    3. बहुत ही अच्छा पोस्ट है आपका ! हवे अ गुड डे ! मेरे ब्लॉग पर आये !
      Music Bol
      Lyrics Mantra
      Shayari Dil Se
      Latest News About Tech

      उत्तर देंहटाएं
    4. जन्मदिन की बधाई व शुभकामनाएं ललित जी को ..

      उत्तर देंहटाएं
    5. ललित भाई को हार्दिक शुभ कामनाएं मूंछों की ऊगने की तिथि बताओ
      उसकी कुंडली बनवाते है

      उत्तर देंहटाएं
    6. ललित भाई को जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं !

      उत्तर देंहटाएं
    7. बहुत-बहुत बधाई!
      जन्मदिन की!
      भगवान इन मूछों को सही सलामत रखे!
      सफेद भी हों तो चाँदी की तरह चमकती रहें!

      उत्तर देंहटाएं
    8. हैप्पी बड्डेयम ललितम भैयम
      अहं सेंडिगम पुष्पम गुच्छम
      त्वम मूछम सम कुच्छम नैयम
      मार झपाटा पीलो बियरम
      जय हो जय हो ललितम भैयम

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz