पहली बार कविता का समय पर सम्‍मान बनाम पहला कविता समय सम्‍मान

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:
  • ''पहला कविता समय  सम्मान  हिंदी के वरिष्ठतम कवियों में एक चंद्रकांत देवताले को और पहला कविता समय युवा सम्मान युवा कवि कुमार अनुपम को दिया जायेगा. “दखल विचार मंच” और “प्रतिलिपि”  के सहयोग से हिंदी कविता के प्रसार, प्रकाशन और उस पर विचार विमर्श के लिए की गयी पहल  कविता समय के अंतर्गत दो वार्षिक कविता सम्मान स्थापित करने का निर्णय संयोजन समिति द्वारा लिया गया और समिति के चारों सदस्यों – बोधिसत्व, पवन करण, गिरिराज किराडू और अशोक कुमार पाण्डेय – ने सर्वसहमति से वर्ष २०११ के सम्मान चंद्रकांत देवताले और कुमार अनुपम को देने का फैसला लिया. कविता समय सम्मान के तहत एक प्रशस्ति पत्र और पाँच हजार रुपये की राशि तथा कविता समय युवा सम्मान के तहत एक प्रशस्ति पत्र और ढाई  हजार रुपये की राशि प्रदान की जाएगी.

    कविता समय सम्मान  हर वर्ष ६० वर्ष से अधिक आयु के एक वरिष्ठ कवि को दिया जायेगा जिसकी कविता ने निरंतर मुख्यधारा कविता और उसके कैनन को प्रतिरोध देते हुए अपने ढंग से, अपनी शर्तों पर एक भिन्न काव्य-संसार निर्मित किया हो और हमारे-जैसे कविता-विरोधी समय में निरन्तर सक्रिय रहते हुए अपनी कविता को विभिन्न शक्तियों द्वारा अनुकूलित नहीं होने दिया होकविता समय युवा सम्मान  ४५ वर्ष से कम आयु के एक पूर्व में अपुरस्कृत ऐसे कवि को दिया जायेगा जिसकी कविता की ओर, उत्कृष्ट संभावनाओं के बावजूद,  अपेक्षित ध्यानाकर्षण न हुआ हो. इस वर्ष के  सम्मान ग्वालियर में २५-२६ फरवरी को  हो रहे  पहले कविता समय आयोजन में प्रदान किये जायेंगे.'

    10 टिप्‍पणियां:

    1. चंद्रकांत देवताले जी और कुमार अनुपम जी को बधाई एवं शुभकामनाएँ.

      उत्तर देंहटाएं
    2. चंद्रकांत देवताले जी और कुमार अनुपम जी को बधाई एवं शुभकामनाएँ!

      उत्तर देंहटाएं
    3. चंद्रकांत देवताले जी और कुमार अनुपम जी को बधाई एवं शुभकामनाएँ.

      उत्तर देंहटाएं
    4. चंद्रकांत जी तथा कुमार अनुपम जी बधाई एवं सामजिक
      सारोकार के जन से जुड़े रचना धर्मियों को प्रोत्साहित करने के लिए
      आप सब का धन्यवाद !

      उत्तर देंहटाएं
    5. कविद्वै को ढेरों बधाइयां.

      उत्तर देंहटाएं
    6. देवतालेजी निश्चय ही हमारे समय के सशक्‍त कवि हैं और युवा कवि कुमार अनुपम भी इस पुरस्कार के योग्य हैं. दोनों को बधाई.

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz