नाइस वाले सुमन जी ने मुँह खोला।

Posted on
  • by
  • प्रमोद ताम्बट
  • in
  • Labels:
  • nice वाले सुमन जी ने मुँह खोला। सारे रिकार्ड तोड़ते हुए सुमन जी ने मेरे ब्लॉग पर एक शेर कहा, आप भी गौर फरमाएँ  :-
    गाँधी के सपनो का यह भारत, यही स्वराज्य का मूल मन्त्र है।
    सौगंध तुम्हे सत्ताधीशों, सच बतलाओ यह लोकतंत्र है ॥
    nice 

    पोस्ट और उनका कमेन्ट आप भी देख सकते हैं। 
    http://vyangyalok.blogspot.com/2010/08/blog-post_14.html

    12 टिप्‍पणियां:

    1. Ye loottantra..Mazaaktantra....Beimaantantra.....aadi-aaditantra hai..sir...kuchh aur tantra bhi isme hai.

      उत्तर देंहटाएं
    2. Sir जी,
      जिनका यहाँ गणतंत्र है उन्ही का लोकतंत्र और १५ अगस्त है। बाकियों का तो सूर्य अस्त है।

      उत्तर देंहटाएं
    3. अरे बरसात के मोसम मै मुंह खोला है भाई कही मक्खी ना घुस जाये:) वेसे मिट्ठी मिट्ठी नाईस जी

      उत्तर देंहटाएं
    4. ये अजूबा ही कहलाया...सुमन जी बोल उठे. :)

      उत्तर देंहटाएं
    5. परसाई से हमने सीखा है . वे व्यंग्य के आदर्श हैं ।
      श्रद्धाञ्जलि ।

      उत्तर देंहटाएं
    6. जल्‍दी से मुंह बंद कर लें सुमन जी, गर सारे नाइस बाहर कूद गए तो ... सब टिप्‍पणियां घबराकर इधर उधर ब्‍लॉग पोस्‍टों पर जाकर चिपक जाएंगी।

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz