ब्‍लॉगोत्‍सव -२०१० : आज की सांस्कृतिक संध्या में आप आमंत्रित हैं !

जब ब्लॉगोत्सव की उद्घोषणा की गयी थी तब शायद किसी ने यह उम्मीद नहीं की होगी कि यह उत्सव हिंदी ब्लॉगिंग के लिए मील का पत्थर साबित होगा ....मगर उत्सव से जुड़े कुछ  सृजनकर्मी ऐसे हैं जिन्होंने इस उत्सव को ऐतिहासिक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी .... जिसकी चर्चा अभी करना प्रासंगिक नहीं होगा, मगर एक सृजनकर्मी ऐसे हैं जिनकी चर्चा किये बिना आज की यह बात पूरी ही नहीं होगी . नाम है अविनाश वाचस्पति जिन्होंने इस उत्सव के लिए एक ऐसी पञ्च लाईन सुझाई कि वह  आज एक-एक ब्लॉगर की जुबान पर अपना डेरा बना चुकी है अर्थात "अनेक ब्लॉग नेक हृदय".

यह पञ्च लाईन सुझाते हुए उन्होंने कहा  था कि "प्रभात यह उत्सव इतिहास के पन्नों में दर्ज होगा" ....मात्र दस दिनों में १६२ पोस्ट .....१०० रचनाकार ....५० से ज्यादा महिला चिट्ठाकारों की उपस्थिति....देश के प्रत्येक क्षेत्र के १७ शलाका पुरुषों/ महिलाओं से साक्षात्कार, लगभग १०००  प्रतिक्रियाएं और मेल से प्राप्त ढेरों शुभकामनाएं इसकी सफलता की कहानी कह रही है ....है न एक बड़ी उपलब्धि हिंदी ब्लॉगिंग के लिए ?


इस खुशी को जश्न के रूप में यादगार बनाने के उद्देश्य से आज सायं ०५ बजे ब्लॉगोत्सव-२०१० के अंतर्गत सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया है ....इस सांस्कृतिक संध्या में आमंत्रित किया गया है देश की उदीयमान शास्त्रीय गायिका सुश्री मालविका को ,वही मालविका जिसने सा रे गा मा के मंच से सोनू निगम के साथ परफोर्म करके धमाल मचा दिया था , जी हाँ वही मालविका जिन्होंने कत्थक गुरु बिरजू महाराज और उनके शिष्यों के साथ स्टेज शो कर चुकी हैं ....देश-विदेश के बड़े स्टेज शो की शोभा बढाने वाली सुश्री मालविका इस सांस्कृतिक संध्या को यादगार बनाने आ रही हैं आज सायं ०५ बजे . आप सभी सादर आमंत्रित हैं और आप सबसे विनम्र अनुरोध है कि इस अवसर पर अपनी उपस्थिति से समारोह को गरिमा प्रदान करें। . 

कार्यक्रम स्थल का पता है - http://utsav.parikalpnaa.com/
दिनांक : ०७.०५.२०१०
समय : सायं ०५ बजे

आपका-
रवीन्द्र प्रभात 

5 टिप्‍पणियां:

  1. यह उत्सव कलात्मक विधाओं के समुचित विकास का नियामक है ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्लोगोत्सव की सफलता के लिए श्री रवीन्द्र प्रभात और श्री अविनाश जी को हार्दिक बधाई. हिंदी की समस्त विधाओं को एक नया आयाम देने की दिशा में सफल और सार्थक प्रयास है ब्लोगोत्सव ! मुझे ख़ुशी है कि परोक्ष रूप से ही सही, मैं इसका हिसा बना..! ब्लोगोत्सव की उत्तरोत्तर उन्नति की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ कोटिशः साधुवाद !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. blogiitsav aaj har blogger ki life ka hissa saa ban gaya hai isi ki pathak sankhaya yahi baya karti hai. safalta ke naye aayam likhe yahi hamari kamna hai.

    उत्तर देंहटाएं
  4. 'ब्लागोत्सव' संभावना का उत्सव है.ब्लॉग के संसार में निरंतर नवीनता लाने का यह प्रयास हिंदी और हिंदी साहित्य को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर व्यापक आधार प्रदान कर महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है.श्री रवीन्द्र प्रभात और अविनाश वाचस्पति को मेरी हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेशक मै भी इस ब्लागोत्सव का एक अंग हूँ लेकिन मेरे पीछे से इस उत्सव पर ये आयोजन करवा कर मेरे साथ अन्याय कर रहे हैं लेकिन किसी के न होने से दुनिया नही रुक सकती ये सोच कर संतोष कर लेती हूँ आपको और आयोजन कर्ताओं को बहुत बहुत बधाईखास कर रवीन्द्र प्र्स्भ्स्स्त जी और अविनाश जी को

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz