रूम हीटर कौन सा लूं : ठंड कड़ाकेदार है (अविनाश वाचस्‍पति)

Posted on
  • by
  • अविनाश वाचस्पति
  • in
  • Labels:

  • ठंड कड़ाकेदार है
    तबीयत हुई नासाज है
    पूछता हूं सबसे
    हीटर लूं
    तो कौन सा लूं ?

    सुना है
    गैस का भी आता है
    जो किफायती भी है
    पर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए
    मालूम नहीं कैसा हो ?
    पर जानकारी नहीं है
    मेरे पास
    जिनके पास होगी
    वे बतलायें
    सबका ज्ञान बढ़ाएं।

    बिजली के तो
    बहुत सारे हैं
    सस्‍ते हैं
    महंगे भी हैं
    पर चाहत है
    खरीदूं ऐसा
    जो टिकाऊ तो हो ही
    स्‍वास्‍थ्‍य के लिए महंगा
    भी साबित न हो।

    हीटर जो सस्‍ते आते हैं
    वो हवा में से
    पानी की मात्रा घटाते हैं
    स्‍वास्‍थ्‍य को उससे
    होता है नुकसान
    और जो होते हैं ब्‍लोअर
    वे भी करते हैं
    शायद ऐसा ही कुछ।

    सुना है
    अब अधुनातन तकनालॉजीयुक्‍त
    हीटर जो आ रहे हैं
    उनमें ऐसी प्रक्रिया होती है
    पहचाने जाते हैं ऑयल बेस्‍ड
    उनकी धमनियों में तेल होता है गर्म
    जिससे वातावरण ठंडा नहीं होता
    स्‍वास्‍थ्‍य को भी उनसे
    हानि नहीं होती
    पर उसकी जानकारी चाहिये
    दाम के साथ
    उत्‍तम ब्रांड भी बतलाइये
    जो ट्रबलरहित सर्विस दे।

    जो कर रहे हों उपयोग
    या रखते हों जानकारी
    वे बतलायें कि क्‍या
    खरीदना चाहिये
    ऐसा न हो
    कि खरीदना कुछ हो
    और हम खरीद कुछ लायें
    फिर बाद में पछतायें
    और चिडि़या चुग जाये ...

    हीटर ऐसा चाहिये
    जो सर्दी की
    थर्र थर्राहट खत्‍म कर दे।

    10 टिप्‍पणियां:

    1. अब अगले साल लेना जी।
      मकर-संक्रान्ति की शुभाकमनाएँ!

      उत्तर देंहटाएं
    2. वाह अविनाश वाचस्‍पति जी .. आप हिन्‍दी ब्‍लॉगरों के अनुभव पर ही पूरी गृहस्‍थी जमाते जा रहे हैं .. और अबतक मैं इनकी मदद से कुछ भी न कर सकी !!

      उत्तर देंहटाएं
    3. शीतोपलादि चूर्ण खायें झंडू का शहद के सांथ फिर पियें गरम दूध (भाभी जी को भी खिलायें)सुबह शाम और खायें च्यवनप्राश जाडों भर ।

      हीटर सेकनें पडो़सी के घर चले जायें।

      उत्तर देंहटाएं
    4. हीटर ना ही लें तो बेहतर है चुल्ही पे हाथ पाँव सेकिये स्वास्थ्य के लिए तो कोइसा ऐसा हर्बल हीटर निकला नहीं!!!

      उत्तर देंहटाएं
    5. वेसे तो दिल्ली मै हीटर की जरुरत नही पडती, हमारे जमाने मै तो अंगिठी से काम चल जाता था, ओर गेस का अच्छा नही, अगर लेना ही है तो आप..पहचाने जाते हैं ऑयल बेस्‍ड
      उनकी धमनियों में तेल होता है गर्म
      यही वाला ले, या फ़िर बिजली वाला भी ले सकते है लेकिन खुशकी तो सब पेदा करेगे, उस के लिये आप को किसी अन्य बर्तन मै पानी रखना पडेगा साथ मै जिस से खुशकी दुर हो ्जाये , ऑयल बेस्‍ड वाले के ऊपर पानी की कटॊरी रख सकते है,

      उत्तर देंहटाएं
    6. बहुत बढिया भैया
      ब्लोग जगत का अनुभव और आपका फ़ायदा
      वैसे इतना सोचोगे तो जीने का मज़ा जाता रहेगा. दुनिया गोल है.
      सबके अपने फ़ायदे सबके नुकसान
      बाकी भैया आप हो चतुर सुजान
      सलाह वो दे हो जिनको हो इसका
      हम है अनाडी बस फ़ैलाते अग्यान

      उत्तर देंहटाएं
    7. कोई भी लीजिए बस ऐसा हो की रूम गर्म रखे....

      उत्तर देंहटाएं
    8. बहुत बढ़िया. आपकी कवितायेँ पढ़कर वैसे ही नई उमंग का संचार हो जाता है, ज्यादा ठंडी होने पर राशन का बिल देख लेते है.

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz