दैनिक जनसत्‍ता में मास्‍टरनीनामा का मकड़जाल (अविनाश वाचस्‍पति)


नुक्‍कड़ ब्‍लॉग की सम्‍मानित लेखिका सुश्री शेफाली पांडेय की दैनिक जनसत्‍ता के संपादकीय पेज पर समांतर स्‍तंभ में मास्‍टरनीनामा की पोस्‍ट इन्‍हें इंसान ही बने रहने दिया जाए मकड़जाल शीर्षक से दिनांक 23 अक्‍तूबर 2009 के अंक में प्रकाशित।

10 टिप्‍पणियां:

  1. मास्टरनी नामा के जनसत्ता मे इस शानदार प्रकाशन के लिये शेफाली जी को बहुत बहुत बधाई -शरद कोकास ,दुर्ग

    उत्तर देंहटाएं
  2. शेफाली जी को मेरी ओर से बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  3. शेफाली जी को बहुत बधाई ...!!

    ---- eksacchai { AAWAZ }

    http://eksacchai.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. pande.shefali
    to अविनाश वाचस्पति
    date Fri, Oct 23, 2009 at 10:01 PM
    subject Re: जनसत्‍ता में प्रकाशित पोस्‍ट का स्‍कैनबिम्‍ब

    अविनाश जी धन्यवाद .....अखबार यहाँ नहीं मिल सका ...लेकिन आपके द्वारा पढ़ लिया ...धन्यवाद फिर से ...नुक्कड़ भी नहीं खुल रहा ...यहीं से सभी को धन्यवाद दे देती हूँ

    उत्तर देंहटाएं
  5. अविनाश जी इसे नुक्कड़ पर लगाकर आपने इसका माँ बढ़ाया है ..धन्यवाद आपका ...crome me khul gaya blog...

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz