नुक्‍कड़ की अप्रैल - पोस्‍ट की चर्चा दैनिक भास्‍कर के ब्‍लॉगर्स पार्क में (अविनाश वाचस्‍पति)

शहरों में पार्क तो हैं
पर पार्किंग
समस्‍या है
क्‍योंकि पार्क में
पार्किंग है वर्जित।

ब्‍लॉगर्स लूट सकते हैं
पार्क में पार्किंग का
असीम सुख
जो नुक्‍कड़ ने लूटा है
दैनिक भास्‍कर के
ब्‍लॉगर्स पार्क में।

इस पार्क में
ब्‍लॉग पार्क होते हैं
विचरण भी करते हैं
इस पार्किंग पर
नहीं लगता है
कोई शुल्‍क।

वाहन पार्किंग से
हट जाए अगर
पार्किंग शुल्‍क
अच्‍छा हो जाए
साड्डा मुल्‍क।

अपनी टिप्‍पणी का खर्चा
मत बचाएं यहां पर तो
अपनी टिप्‍पणी बेदर्दी से
खूब जीभर के लुटाएं
ब्‍लॉगवाणी पर पसंद
नापसंद होने पर भी
चटकाएं और एक बार
अप्रैल फूल मनाने का
आनंद फिर लूट ले जाएं।

12 टिप्‍पणियां:

  1. बधाई हो ... टिप्‍पणी भी कर दी ... चटका भी लगा दिया।

    उत्तर देंहटाएं
  2. saadgi bhi....
    aur be-baaki bhi....
    w a a h !!
    ---MUFLIS---

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपको चटका खाना जब अच्छा लगता है तो चटकाना ही होगा। बाकी आप बधाई के पात्र हैं।ब्लॉगर्स पार्क में अपनी ब्लॉग की गाड़ी खड़ी करने के लिये। - छूमतंर

    उत्तर देंहटाएं
  4. बधाई आपको। वैसे राजीव जी की पूरी सब्जी आजतक खाने को नही मिली अप्रेल भी जा रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. ओए जी बधाईयां आपको बहुत बहुत बाकी याद रखना टैक्‍स के दायरे में आप सबसे पहले और सबसे ज्‍यादा टैक्‍स देने वालों की सूची में आने वाले हैं हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  6. ब्लॉगर्स पार्क में धूम मचाने की बधाई..

    उत्तर देंहटाएं
  7. डॉ. विजय जी अब आपके विचार भी बह बहा कर यहां तक आयेंगे

    उत्तर देंहटाएं

आपके आने के लिए धन्यवाद
लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

 
Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz